January 20, 2022
Breaking News

दिव्यांगों के लिए सुविधा, अब व्हील चेयर सहित कोच में चढ़ सकेंगे,आसानी से चढ़ने एवं उतरने के लिए फोल्डिंग रैम्प की सुविधा

हरित छत्तीसगढ़ रायपुर रेलवे के अधिकारी-कर्मचारी ट्रेन में सफर करने वाले प्रत्येक व्यक्ति की सुविधाओं को ध्यान में रखकर काम कर रहे हैं।रेलवे के अधिकारी-कर्मचारी ट्रेन में सफर करने वाले प्रत्येक व्यक्ति की सुविधाओं को ध्यान में रखकर काम कर रहे हैं। कोचिंग डिपो के अधिकारी-कर्मचारियों ने वेस्ट मटेरियल से ऐसा रैंप तैयार किया है जिसे बोगी के दरवाजे पर रखकर व्हील चेयर में बैठे व्यक्ति को आसानी से कोच के अंदर ले जाया जा सके। इस रैंप का उपयोग रायपुर रेल मंडल के कोचिंग डिपो दुर्ग द्वारा स्थानीय संसाधनों का उपयोग करते हुए दिव्यांग यात्रियों को ट्रेन के कोच में व्हील चेयर के साथ आसानी से चढ़ने एवं उतरने के लिए रैम्प की सुविधा रायपुर मंडल में की  जा रही है। यह सुविधा वर्तमान में दुर्ग स्टेशन की गयी है एवं रायपुर मंडल के अन्य स्टेशनों पर लगभग 08 चालित फोल्डिंग रैम्प रखे जायेगें। रायपुर, भाटापारा, तिल्दा, भिलाई पावर हाउस, प्रमुख स्टेशनो पर भी यह सुविधा शीघ्र ही प्रारंभ कि जायेगी।इस चालित फोल्डिंग रैम्प का निर्माण स्थानीय संसाधनों से किया गया है । रैम्प को कोच के फर्श के साथ इस प्रकार से समायोजित किया गया है कि उतरने एवं चढ़ने के दौरान यात्री को किसी प्रकार की असुविधा न हो । रैम्प को इस प्रकार बनाया गया है कि उसे उपयोग हेतु केवल एक व्यक्ति द्वारा आसानी से कोचों तक लाया/ले जाया जा सकता है, जो वर्तमान में मुख्य स्टेशन प्रबंधक/दुर्ग के संरक्षण में है तथा इनसे संपर्क कर इसे प्राप्त किया जा सकता है। रायपुर रेल मंडल में वर्तमान में दिव्यांग यात्रियों को सीधे टेªन में जाने की सुविधा है एक प्लेटफार्म से दुसरे पर आने जाने के लिए व्हील चेयर पर बैठे बैठे लिफ्ट के माध्यम से आवागमन कर सकते है।ट्रेनों में सफर के दौरान सबसे ज्यादा परेशानी दिव्यांग यात्रियों को होती है। उनके लिए ट्रेन की बोगी में सवार होना पहाड़ चढ़ने जैसा होता है। रेलवे के अधिकारी-कर्मचारियों ने दिव्यांगों की इस समस्या को दूर करने का सोचा और कोचिंग डिपो में वेस्ट पड़े मटेरियल का उपयोग कर रैंप बनाया।

दिव्यांग यात्रियों के लिये रेलवे द्वारा यूनिक पहचानपत्र
रायपुर रेल मंडल ने 515 दिव्यांग यूनिक पहचान पत्र जारी किये

दिव्यांग यात्रियों के लिये रेलवे द्वारा रियारत टिकट रेलवे बुकिंग एवं रिजरवेशन काउन्टर तथा आन लाइन प्राप्त करने बावत् रेल मंत्रालय ने वाणिज्य परिपत्र क्रमांक 18 दिनांक 19/03/2015 जारी करते हुऐ शारिरिक अक्षमता से ग्रसित दिव्यांग व्यक्तियोे जैस पूर्ण रुप से द्रष्टिहीन,पूर्ण रूप से मुक एवं बधिर एवं पूर्ण रूप से अस्थि विकृति से दिव्यांग/अधरंग व्यक्तियो, मानसिक रूप से मंदित व्यक्तियो, पूरी तरह से नेत्रहीन व्यक्तियो के लिए यह पहचानपत्र जारी किया जाता है। उपरोक्त सभी शारिरीक रूप से अक्षम व्यक्तियो को पहचान पत्र प्राप्त करने के लिए वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक कार्यालय रायपुर में सादे कागज पर आवेदन करना होता है। इसके साथ आवश्यक कागजात जैसे कि मेडिकल बोर्ड द्वारा जारी किया गया प्रमाण पत्र एवं रेलवे कंशेसन फार्म जो कि संबधित डाक्टर द्वारा जारी किया गया हो। इसकी छायाप्रति, दो फोटो,फोटोयुक्त पहचान पत्र, निवास प्रमाण पत्र इत्यादि जमा करने पर वेरिफिकेशन प्रक्रिया के पश्चात पांच वर्ष की अवधि या रेलवे कन्सेशन प्रमाण पत्र की वैधता की तिथि के अनुसार मंडल रेल कार्यालय से प्रमाणपत्र जारी किया जाता है। रायपुर रेल मंडल ने 515 दिव्यांग यूनिक पहचानपत्र जारी किये है।इस संबध में रेलवे द्वारा उपरोक्त को द्वितीय श्रेणी , स्लीपर क्लास,चेयर कार श्रेणियो में 75 प्रतिशत की छुट दी जाती है। इसके अलावा एसी 1 एवं एसी-2 में 50 प्रतिशत की रियायत दी जाती है। परिचारक को साथ में ले जाने पर भी उपरोक्त अनुसार छुट का प्रावधान है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *