July 25, 2021
Breaking News

काफी आलोचनाओं के बाद फिर से दोबारा कंबल वाले बाबा की शरण में गृहमंत्री रामसेवक पैकरा

हरित छत्तीसगढ़ अम्बिकापुर। इसे बीमारी से छुटकारा दिलाने की कवायद कहे या फिर मीडिया फिर को चैलेंज या तो विपक्षियों को जवाब चाहे जी भी हो डायबिटीज बीमारी से जूझ रहे प्रदेश के गृहमंत्री ने सारे विवादों को दरकिनार कर एक बार फिर कम्बल वाले बाबा के शरण पर जा पहुंचे है हालांकि इस बार उनकी कम्बल वाले बाबा से बंद कमरे में मुलाकात हुई है साथ ही बाहर पुलिस का कड़ा बन्दोबस्त किया गया था ग्राम स्याही के एक घर के बंद कमरे में कंबल वाले बाबा से मुलाकात की और बाहर पुलिस का कड़ा पहरा रहा। । विदित हो कि सप्ताह भर के अंतराल में कम्बल वाले बाबा से यह उनकी दूसरी मुलाकात है इससे पूर्व के मुलाकात की फोटो मीडिया पर वायरल होते ही गृहमंत्री की काफी आलोचना हुई थी। कम्बल बाबा से इलाज कराते फोटो व वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होते ही गृहमंत्री प्रदेश व देश में सुर्खियों में आ गए थे उनके इस अंधश्विास को लेकर सरकार की भी जमकर किरकिरी हुई, कांग्रेस ने तो उनके खिलाफ एफआईआर करने तक की मांग उठा डाली थी। लेकिन गृहमंत्री एक बार फिर कम्बल वाले बाबा की शरण मे आकर सभी विरोधियों को खुला चेलेंज करते नजर आ रहे है।विदित हो कि, ‘ बाबा ने डायबीटीज के इलाज के लिए गृह मंत्री को चार बार और आने के लिए कहा है। सूत्रों के मुताबिक गृह मंत्री इस बाबा से चार बार मिलकर उपचार कराने को अड़े हुए है उन्हें इस बात का पूरा भरोसा है कि कम्बल बाबा से उनका इलाज हो ही जाएगा। गौरतलब हो कि गौरतलब है कि वाड्रफनगर विकासखंड के ग्राम स्याही, पंडरी व बरतीकला में गुजरात के अहमदाबाद से आए एक कंबल वाले बाबा के पास अंधविश्वास के फेर में पड़कर लोगों भारी भीड़ बीमारियों का उपचार कराने लग रही है। ऐसा दावा है कि बाबा कंबल ओढ़ाकर सभी असाध्य रोगों का उपचार कर प्रसाद में शक्कर देता है। लोग तो लोग सही प्रदेश के गृहमंत्री रामसेवक पैंकरा भी इस अंधविश्वास को बढ़ावा देने में लगे हुए हैं। उधर, कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि गृहमंत्री अंधविश्वास को बढ़ावा दे रहे हैं। अभी गृहमंत्री बाबा से आर्शीवाद ले रहे हैं और बाद में स्थानीय लोग भी इलाज के बाबा की शरण लेने लगेंगे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *