Sharing is caring!

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने आज राजभवन जाकर राज्यपाल को इस्तीफा सौंप दिया है. इस्तीफे के साथ ही कयासों का दौर खत्म हो गया है

पटना: मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को लेकर बिहार की राजनीति में जारी खींचतान बुधवार को अपने चरम पर पहुंच गई. जेडीयू विधायक दल की बैठक खत्म होने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी से मिलने पहुंचे और उन्‍हें अपना इस्‍तीफा सौंप दिया. इस तरह तेजस्‍वी के इस्‍तीफे को लेकर महागठबंधन में चल रही राजनीतिक कलह खुलकर सामने आ गई और राज्‍य में सियासी संकट खड़ा हो गया है.इससे पहले हुई आरजेडी की बैठक के बाद आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने एक बार फिर कहा था कि तेजस्वी यादव इस्तीफ़ा नहीं देंगे. वही इस्तीफा देते वक्त नीतीश ने कहा – मैंने अंतरात्मा की आवाज सुनी, अब साथ रहना संभव नहीं था. मैंने हरसंभव कोशिश की लेकिन बात नहीं बनी. जब तक चला सकते थे, चला दिया. मेरे स्वभाव के अनुरूप नहीं था. गांधीजी ने हमेशा कहा है कि धरती पर लोगों की जरूरत की पूर्ति होगी लेकिन लालच की नहीं.

Sharing is caring!