September 24, 2021
Breaking News

पत्थलगांव मे महिलाओं ने मनाया हरियाली तीज पर्व

हरित छत्तीसगढ़
विवेक तिवारी पत्थलगांव।

 सावन महीने मे स्त्रियों का प्रिय पर्व हरियाली तीज पर्व पत्थलगांव मे भी महिलाओं ने धमधाम के साथ मनाया। इस मौके पर सावन के गीत गाते हुए झूलें कें पेंग लेती महिलाओं का उत्साह देखते ही बन रहा था।

हरियाली तीज के अवसर पर महिलाओं ने पार्वती माता का पूजन कर शिव-गौरी के सुखद वैवाहिक जीवन से जुड़े लोकगीत गाया, पौराणिक अनुश्रुतियों के अनुसार, देवी पार्वती ने महादेव शिव को प्राप्त करने के लिए सौ वर्षों तक कठिन तपस्या की थी. अपनी अथक साधना से उन्होंने इसी दिन भगवान शिव को प्राप्त किया था. यही कारण है कि विवाहित महिलाएं अपने सुखमय विवाहित जीवन और अखंड सौभाग्य की प्राप्ति लिए यह व्रत रखती हैं. परंपरा के अनुसार योग्य वर की प्राप्ति के लिए कुंवारी कन्याएं भी यह व्रत रखती हैं.गौरतलब हो कि केवल एक धार्मिक त्योहार नहीं बल्कि प्रकृति का उत्सव मनाने का भी दिन है. इस पर्व को श्रावणी तीज या कजरी तीज भी कहते हैं. इस मौसम में जब प्रकृति चारों तरफ हरयाली की चादर बिछा देती है, तो इस सुन्दर प्रकृतिक नज़ारे को देखकर मन झूम उठता है। जगह-जगह झूले पड़ते है, नृत्य व गीत गाये जाते है। यह दृश्य बहुत ही मन लुभाने वाला होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *