July 25, 2021
Breaking News

पत्थलगांव, घरों में घुसा बरसाती पानी,प्रसाशन बेसुध,बेवस निवासी

हरित छत्तीसगढ़ संजय तिवारी
पत्थलगांव में नगर पंचायत की पानी निकासी व्यवस्था बदहाल हाल में आ गयी है| यहां बरसाती पानी के निकासी के लिए बने नाली पर दबंगो का कब्जा हो जाने से कुछ वर्षों से बरसाती पानी निकासी बदहाल में आ गयी सबसे बुरी स्थिति जशपुर मार्ग नया बाजार में देखा जा सकता है यहां प्रत्येक वर्ष बरसाती पानी लोगो के घरों में प्रवेश हो जाने की शिकायत आ जाती है उसके बाद भी नप कर्मचारी पानी निकासी की ठोस व्यवस्था नही कर पा रहे इस बार भी हाल में हो रहे झमाझम बारिश से यहां कुछ लोगों के घरों के में पानी घुस गया। लोगों ने बाल्टियों से पानी निकाला परन्तु कोई राहत नही मिल पाई। स्थानीय लोगो ने बताया कि यहां बरसाती पानी की निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है। वहीं कई दिनों से घरों में घुसे पानी से अब बदबू उठ रही है। विदित हो कि हर साल बारिश के दिनों में घरों में पानी घुसकर नगर पंचायत की व्यवस्था की पोल खुल जाती है। जशपुर मार्ग पर जल निकासी के नाम बनाई गई नाली भी फेल हो गई है बारिश में पानी लोगों के घरों में घुसने लगा। लोग अपने आशियाने को बचाने की मशक्कत कर रहे हैं। काफी अर्से पूर्व नगर प्रशासन ने यहां पर नाली का निर्माण कराया था लेकिन इसे दबंगों ने पाटकर कब्जा कर लिया है।जब नगरपंचायत के अधिकारी को घरों में बरसाती पानी घुसने और नाली को दबंगों के द्वारा बंद कर देने की जानकारी दी गई तो महोदय ने दो सफाई कर्मी को भेजा पर वह साफाई कर्मी यह कह कर बैरंग लौट गए कि नाली का अस्तित्व न के बराबर है यहां सफाई हेतु हमारी जरूरत नहीं वरन नगर पंचायत की jcb मशीन ज्यादा कारगर शिद्ध होगी।कर्मचारियों के बैरंग लौट जाने से प्रभावित लोग बेबस होकर बरसाती पानी से अपना आशियाना को उजड़ते देखने को मजबूर हैं।पीड़ित परिवार के गोपाल सिदार,बबलू सिंह,धर्मेंद्र सिदार,राजू तिवारी,विवेक ने बताया की बरसाती पानी के निकाशी के लिए बने नाली पर अतिक्रमण हो जाने से बीते 3 वर्षो से बारिश के मौसम में हर बार स्थानीय लोगों को बर्षाति जल भराव से जूझना पड़ता है वहीं नगर पंचायत कर्मी अतिक्रमण कारियों के प्राभाव में आकर जल भराव हुवे पानी के निकासी की महज खाना पूर्ति कर इति श्री कर लेते है और समस्या हर वर्ष यथावत बनी रहती है इस संबंध में जब अनुविभागीय अधिकारी राजस्व प्रताप विजय खेस व तहसीलदार मायानंद चन्द्रा से पीड़ित परिवारों ने दूरभाष के माध्यम से शिकायत दर्ज कराते हुवे राहत दिलाने की गुहार लगाई तो संबंधित दोनो अधिकारियों ने नगरपंचायत को जानकारी देने का हवाला देते हुवे पल्ला झाड़ते नजर आए और इन अधिकारियों ने मौके में जाकर वस्तुस्थिति का जायजा लेना तक उचित नहीं समझा।गौर तलब हो कि प्रभावित घरों में बरसाती जल भराव की स्थिति भयावह हो चुकी है और कभी भी बड़े हादसे होने की संभावना है जिसकी पूर्ण रूपेण जिम्मेदारी जिम्मेदार अधिकारियों की ही होगी बहर हाल बार बार गुहार लगाने के बावजूद प्रभावित परिवार के सामने प्रसासनिक अमलो को जगाने के लिए अब घर छोड़ सड़क पर उतरने का रास्ता ही नजर आ रहा है।O

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *