September 17, 2021
Breaking News

शिक्षिक द्वारा नाबालिक छात्रा को प्रताड़ित मामला, प्रशासन सोया चिरनिंद्रा में

हरित छत्तीसगढ़ बसन्त चन्द्रा


प्रभारी बी इ ओ को घटना के बारे में नही मालूम
सक्ती- नाबालिग बच्ची से शिक्षिका द्वारा घर पर काम कराये जाने के शिकायत में तीन दिनों बाद भी कोई कार्यवाही नही होना अधिकारियों की लापरवाही को दर्शाता है। बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने की बात करने वाले अधिकारियों की चुप्पी समझ से परे है। एक तरफ गरीब परिवार की बालिका शासकीय स्कूल में पढ़ने जा रही थी जिसे शिक्षा विभाग के कुंठित मानसिकता से ग्रसित शिक्षिका के शोषण से एक बालिका को शिक्षा के अधिकार से वंचित कर दिया है ।शिक्षिका के दहशत से बालिका स्कूल में पढ़ना ही नही चाहती ऐसे में सरकार द्वारा बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने का कार्यक्रम कैसे सफल होगा ।
*जिला शिक्षा अधिकारी ने कहा जांच चल रही है ।दोषी पर कार्यवाही की जाएगी*
जाँच अधिकारी नियुक्त प्रभारी बी इ ओ श्रीमती मोनिका गुप्ता ने कहा इस संबंध में अभी तक मुझे कोई आदेश नही मिला है । जानकारी मिलने पर जांच कर कार्यवाही की जाएगी ।

*कार्यवाही नही होने पर ग्रामवासी जनआंदोलन की तैयारी में*
ग्राम पोरथा के शासकीय प्राथमिक शाला भाठापारा के सभी पालको में भारी आक्रोश उनका कहना है जब से शिक्षिका इस स्कूल में आयी है तब से स्कूल का शैक्षणिक माहौल पूरी तरह से बिगड़ गया है । स्टाफ के अन्य महिला शिक्षिकाओ को अनावश्यक परेशान करना ।स्वीपर के साथ झगड़े के चर्चे आम है ।वही छात्रों का कहना है बात बात में मारपीट करती है जिससे बच्चे डरे सहमे विद्यालय मजबूरी में जाते है । इन सभी वजहों को ध्यान में रखते हुए शिक्षिका का तत्काल अन्यत्र ट्रांसफर कर कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *