September 24, 2021
Breaking News

आगामी चुनाव में भाजपा को जोर का झटका धीरे से देगी जनता; भगवानू

हरित छत्तीसगढ़

 *बिजली विभाग के लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे है प्रदेश के गरीब मजदूर, किसान।*

▪ *गलत देयक जारी करते है, नही जमा करने पर लाइन भी काटते है, झूठा प्रकरण भी बनाते है*

▪ *बिजली उत्पादन में प्रदेश आत्मनिर्भर , गरीब,मजदूर किसान अंधेरे में रहने और बच्चे बिजली खम्भे के नीचे पढ़ाई करने मजबूर*

▪ *किसान को 76 करोड़ का गलत बिल जारी किया गया*, *पूरा घर परिवार घबरा गया*

रायपुर, छत्तीसगढ़ दिनांक 24 सितंबर 2017 । जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के प्रदेश प्रवक्ता भगवानू नायक ने कहा एक तरफ छत्तीसगढ़ सरकार बिजली उत्पादन में आत्मनिर्भर होने की बात करती है, किसानों को पर्याप्त बिजली मुहैया करने का दावा करती है वहीं प्रदेश के गरीब मजदूर, किसानों को अनाप शनाप , मनमाफिक बिजली बिल भेज कर बिजली विभाग लूटने का काम कर रही और नही जमा करने पर बिजली भी काट दी जाती है, झूठा प्रकरण बनाकर न्यायालय भेज दिया जाता है और आम आदमी अपना काम काज छोड़कर न्याय की आस में बिजली विभाग और कोर्ट कचहरी के चक्कर काटता फिरता है। बिजली विभाग के द्वारा बिल जारी करने की प्रक्रिया में उच्च तकनीकी का उपयोग करने के बावजूद भी इस प्रकार कि गड़बड़ी त्रुटि नहीं बल्कि जानबूझकर किया जाना वाला कृत्य है जिसका खामियाजा आज प्रदेश के गरीब मजदूर किसान भुगत रहे हैं । महासमुंद जिले के साजपाली में एक सामान्य परिवार के किसान राम प्रसाद के घर बिजली विभाग ने 76 करोड़ रुपया का बिजली बिल भेज दिया जिससे पूरा परिवार सहम गया और शिकायत करने पर विभाग ने अपनी गलती माना और सुधार कर 1850 का नया बिल प्रदान किया। इसी तरह बिजली विभाग की कई लापरवाहियां समय-समय पर सामने आई है और इनके द्वारा अनाप-शनाप , मनमर्जी बिजली बिल भेज कर आम जनता की खून पसीने की गाढ़ी कमाई को लूटने का काम किया जाता है जिससे गरीब मजदूर किसान त्रस्त है, आर्थिक, मानसिक रूप से परेशान है। प्रदेश में बिजली उत्पादन के नाम पर वाह वाही लूटने और डिंग हाँकने वाली रमन सरकार उद्योगों को भरपूर बिजली देती है और प्रदेश का गरीब किसान अंधेरे में रहने और उनके बच्चे बिजली खम्बे के नीचे पढ़ने को मजबूर है इस प्रकार के सरकार की दोहरी नीति से आम जनता वाकिफ हो चुकी है जिसका बदला आने वाले चुनाव में जनता लेगी और भाजपा को जोर का झटका धीरे से देगी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *