Sharing is caring!

नई दिल्ली: केंद्रीय संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने ऐलान किया कि देश का सबसे पहला मोबाइल, इंटरनेट और तकनीक सम्मेलन ‘इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2017’ बुधवार से शुरू होगा और 29 सितम्बर तक चलेगा. सिन्हा ने कहा, “हमें यह कहते हुए गर्व महसूस हो रहा है कि हमारा देश अब अपना पहला मोबाइल, इंटरनेट और तकनीक सम्मेलन ‘द इंडिया मोबाइल कांग्रेस” की मेजबानी करने जा रहा है. हमें आशा है कि इस उपमहाद्वीप में मोबाइल, इंटरनेट और तकनीक के क्षेत्र में सबसे बड़ा मंच साबित होगा.”आयोजकों को उम्मीद है कि इस सम्मेलन के जरिये उद्योग को पूरी तरह से लोगों के सामने रखा जा सकेगा, जहां मूल उद्योग से जुड़े लोग, मूल उपकरण निर्माता व हैंडसेट निर्माता व दूसरे लोग मौजूद होंगे। इस सम्मेलन में दूरसंचार सेवा प्रदाताओं व कई स्टार्ट अप के अलावा आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस व रोबोटिक्स से जुड़ी कंपनियां भी भाग लेंगी।

इंडिया मोबाइल कांग्रेस, सेलुलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआई), मोबाइल और टेलीकॉम ऑपरेटरों और इंटरनेट कंपनियों के उद्योग संघ की ओर से आयोजित किया जा रहा है, जिसका नेतृत्व दूरसंचार विभाग नोडल मंत्रालय के रूप में कर रहा है. इसका मकसद वैश्विक और भारतीय दूरसंचार, मोबाइल, इंटरनेट, कनेक्टिविटी और डिजिटल सेवा क्षेत्र के महत्व को दिखाना, चर्चा करना, अनावरण, अवधारणा, शिक्षित करना है.”मंत्रालय भारत की पूरी 1.32 अरब आबादी तक सस्ती और सार्वभौमिक पहुंच लाने के लिए ठोस प्रयास कर रहा है और दुनिया को अनुकरण करने के लिए भारत में सफल कहानियां तैयार कर रहा है. यह डिजिटल इंडिया का सच्चा उत्सव है.” सीओएआई के महानिदेशक राजन मैथ्यूज ने कहा, “हमें यकीन है कि विचार-विमर्श से वैश्विक नीति की जानकारी सामने आएगी और सभी हितधारक इन वर्षो के दौरान नई प्रौद्योगिकियों को लॉन्च करने और रिलीज करने के लिए इस आयोजन को उत्सुक थे.”

Sharing is caring!