October 1, 2020
Breaking News

प्रबंधक जगदीश यादव अभी भी पत्‍थलगांव पुलिस की पकड से कोसो दूर

विज्ञापन

यह भी देखें :

भारतीय जवान के एक ही थप्पड़ में जैश का प्रमुख मसूद अजहर हिल गया आतंकी गतिविधियों के बारे में बताना शुरू कर दिया

पत्‍थलगांव – झूठे का बोल बाला और सच्चे का मुंह काला यह कहावत यदि पत्थलगांव के प्रशासनिक महकमे को ले कर कहा जाए तो बुरा नहीं होगा,क्यो की ऐसा ही पत्थलगांव में आए दिन देखने को कहीं न कहीं मिल ही जाएगा जब प्रशासन से सांठ गांठ कर मुजरिम खुले आम घूमते नजर आते है,इसी लिए तो कहा जाता है कि नियम और कानून भी उसी के हाँथ में है जिसके पास पहुंच और पैसे की ताकत हो ऐसा ही एक मामला पत्थलगांव के लुड़ेग क्षेत्र का है जहां करोडो रूपेय का धान घोटाला करने वाले लुडेग समिति का पूर्व प्रबंधक जगदीश यादव अभी भी पत्‍थलगांव पुलिस की पकड से कोसो दूर है।जहां जांच अधिकारियों द्वारा करोडो का घोटाला साबित होने पर उक्‍त आरोपी प्रबंधक सहित अन्‍य 6 लोगों पर कई महीनों पूर्व एफआईआर दर्ज कराया गया था,पर आज भी इस सुसाईटी प्रबंधक के गिरेवान तक पुलिश के हाँथ नहीं पहुंच पा रहे।विदित हो कि आरोपी पूर्व प्रबंधक जगदीश यादव बीते कई वर्षो से कई किसानों के नाम से धान खरीदी कर, चेक अपने परिजनों के नाम से काट देता था और बडी आसानी से लाखों रू का शासन को चूना लगा दिया करता था। लुडेग सोसायटी क्षेत्र के कई किशान जिसमें सुभाष, मधूसूधन, बलराम इत्‍यादि किसानों के नाम से खरीदी करता था और आश्चर्य की बात तो यह है कि बेचारे इन किसानों को पता तक नही था कि इनके नाम से कई वर्षो से लुडेग सोसायटी में धान विक्रय किया जा रहा है, आप को बता दें कि अधिकारियों ने अपने जांच में पाया कि आरो‍पी प्रबंधक जगदीश यादव द्वारा 18 वर्ष पूर्व मरे हुऐ किसान लालजीत पैंकरा के नाम से लाखों रू का धान विक्रय करता रहा हैं जांच के बाद ये मामला का खुलासा हुआ, किसानों के नाम पर शासन को चुना लगाने वाला धाेखेबाज जगदीश यादव शासन को करोडो का चूना लगा कर बैखौफ अपने निवास लुडेग में रह कर शासन प्रशासन एवं छले गये किसानों को ढेंगा दिखा रहा है। सूत्रो से मिली खबर की अनुसार जगदीश यादव पिछले कई दिनों से लुडेग में ही रह रहा है। आरोपी पूर्व प्रबंधक जगदीश यादव की गिरफतारी नही होने से किसानों ने प्रबंधक के साथ पुलिस की मिली भगत होने का आंशका जाहिर किया है।कुछ किशानो का कहना है कि उक्‍त आरोपी रोज शाम को लुडेग बाजार में घुमते दिख जाता है। परंतु बहुत जल्द इस आरोपि को सलाखों के अंदर करने का दावा करने वाली पत्‍थलगांव पुलिस मौन बैठी है।अब जन मानस में यह चर्चा व्याप्त है कि आखिर क्या कारण है जो शासन को करोडो रू का चुना लगाने वाला आरोपी जगदीश यादव को पत्थलगांव पुलिस सलाखों के पीछे का रास्ता नहीं दिखा रही है।

 विदित हो कि पुलिश कार्यवाही को लेकर जन चर्चा व्याप्त है कि पत्थलगांव की पुलिस तब तक अपराधियों को नहीं पकड़ती जब तक अपराधियों को कोर्ट का जमानत नहीं मिल जाता यही कारण है कि धान घोटाले में 7 आरोपियों में से 6 को कोर्ट ने जमानत दे दी है और एक मुख्य आरोपी जगदीश यादव को भी पकड़ने में सायद पुलिश जमानत का इंतजार कर रही है

यह भी देखें :

पत्थलगांव में वॉलीबॉल लीग चैम्पियनशिप का रोमांच तीन मार्च से, तैयारी शुरू

विज्ञापन

harit

कन्सल्टेंसी

harit

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *