July 26, 2021
Breaking News

पेट्रोल डीजल होंगे 2.50 पैसे सस्ते छत्तीसगढ़ में

रायपुर. पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के बीच एक राहत वाली खबर आई है। केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल (ब्रांडेड और गैर-ब्रांडेड ) पर बेसिक उत्पाद शुल्क 2 रुपए प्रति लीटर कम करने का फैसला किए जाने के बाद अब अनुमानित रूप से पेट्रोल पर 19.48 रुपए प्रति लीटर और डीजल पर 15.33 रुपए प्रति लीटर उत्पाद शुल्क लगेगा। पेट्रोल-डीजल के दामों में यह कमी 4 अक्टूबर से प्रभावी होगी। छत्तीसगढ़ में इसके बाद पेट्रोल और डीजल के दामों में अनुमानित रूप से 2.50 रुपए की कमी आएगी। छत्तीसगढ़ में पेट्रोल और डीजल पर 25 प्रतिशत वैट लगता है।पेट्रोल-डीजल की ऊंची कीमतों पर बोले जेटली, राज्य घटाएं टैक्स की दरें
इससे पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार (20 सितंबर) को पेट्रोल, डीजल की ऊंचे कीमतों पर कहा था कि सरकार को सार्वजनिक खर्च के लिए राजस्व समर्थन की जरूरत होती है, जिससे वृद्धि के रास्ते में रुकावट न आए. जेटली ने इस बात का कोई संकेत नहीं दिया कि सरकार पेट्रोल और डीजल से उत्पाद शुल्क की दरों में कटौती कर सकती है. वित्त मंत्री ने कहा था कि राज्यों द्वारा ईंधन पर ऊंचा बिक्रीकर और वैट लिया जाता है. हालांकि, उन्होंने इस बात का जिक्र नहीं किया था कि नवंबर 2014 से जनवरी 2016 के दौरान पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 11.77 रुपये प्रति लीटर बढ़ा है, जबकि डीजल पर इसमें 13.47 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हुई है. इससे अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आई गिरावट का लाभ गायब हो गया.
भाजपा शासित महाराष्ट्र में पेट्रोल पर वैट की दर 46.52 प्रतिशत है. मुंबई में यह 47.64 प्रतिशत तक है. आंध्र प्रदेश में पेट्रोल पर 38.82 प्रतिशत वैट लगता है. मध्य प्रदेश में पेट्रोल पर वैट की दर 38.79 प्रतिशत है. भाजपा की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की 29 में से 18 राज्यों में सरकार है. जेटली ने हालांकि भरोसा दिलाया था कि ईंधन की कीमतें जल्द नियंत्रण में आएंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *