January 20, 2022
Breaking News

जशपुर:आई टीआई छात्र की हत्या का खुलासा पत्नी व प्रेमी ने मिलकर की थी हत्या

हरित छत्तीसगढ़ विवेक तिवारी पत्थलगांव

अपने प्यार को पाने पत्नी ने कराई पति की हत्या,पांच माह पहले हुई थी दोनों की शादी,

पत्थलगांव।पत्थलगांव पुलिस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में बड़ी कामयाबी हासिल की है। हत्या के आरोप में उसकी पत्नी एवं उसके प्रेमी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियो के खिलाफ़ भादवि की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर जेल भेजने की तैयारी की जा रही है। विदित हो कि पत्थलगांव थानाक्षेत्र के ग्राम बहनाटाँगर निवासी धनसाय सिदार पिता देवसाय सिदार उम्र 25 वर्ष की लाश सड़ी गली अवस्था में ग्राम ईला के मुरब्बा नर्सरी में मिलने से इलाके में सनसनी फैल गयी थी, मृतक धनसाय सिदार आईटीआई का छात्र था, जो कि 22 सितंबर से आईटीआई के लिए घर से निकला था लेकिन वापस घर नहीं पहुंचा। इधर घरवाले पिछले 3 दिन से छात्र की तलाश कर रहे थे लेकिन उसका कहीं पता नहीं चल पाया था, मृतक धनसाय के सिर पर गंभीर चोट के निशान भी मिले थे, वहीं शव के आसपास खून के धब्बे भी दिखाई दिए जिससे पुलिस ने प्रथम दृष्टया हत्या का मामला दर्ज कर जांच में जुट गई थी। पुलिस ने मृतक के कॉल डिटेल खंगालने के बाद ही पूरे मामले में खुलासा की बात कह रही थी। वहीं इस अंधे कत्ल की गुत्थी का खुलाशा करते हुवे एसडीओपी तस्लीम आरिफ ने बताया कि हत्या के आरोप में उसी की पत्नी और उसके पुराने आशिक का हाथ होना बताया। मामले की जानकारी देते हुवे बताया कि घटना से पहले पत्नी अपने आशिक से मोबाईल पर घंटो बात किया करती थी, घटना की रात मात्र डेढ़ मिनट बात हुई थी, तस्लीम आरिफ ने बताया कि उसकी पत्नी रुकमणी सिदार अपने प्रेमी विम्पल सिदार निवासी बूढाडाँड़ थाना बगीचा जो कि अम्बिकापुर में टाइल्स लगाने का काम करता है। घटना के दिन पत्नी के द्वारा मृतक धनसाय का आईटीआई से निकलने और आने का पूर्ण ब्यौरा लेकर उसके प्रेमी को जानकारी दी गई, उसके प्रेमी के द्वारा बहनाटांगर के रास्ते ईला जंगल के पास इंतजार करने लगा। चूंकि दोनों पूर्व परिचित थे इस कारण धनसाय द्वारा पूछने पर किसी जड़ीबूटी खोजने की बात कही गयी, धनसाय द्वारा जड़ीबूटी की जानकारी होने की बात कही गयी और विम्पल खेस उर्फ रामदेव जड़ीबूटी दिखाने मुरब्बा नर्सरी में ले जाया गया सुनसान पाकर रामदेव पूर्व रचित सडयंत्र के अनुसार हथोड़े नुमा हथियार से उसके सर पर तेज हमला कर दिया, मृतक द्वारा भागकर जान बचाने की कोशिश की गया पर वार इतना तेज था कि वह थोड़ी दूर जाकर गिर गया, और रामदेव के द्वारा उसके सर पर हथोड़े से कई वार किये गए जब तक कि मृतक की जान नही निकल गई, हथोड़े को वहां स्थित तालाब पर फेक दिया गया और वहां से फरार हो गया। घटना को अंजाम देने के बाद वह रात में मृतक की पत्नी को फ़ोन पर काम पूरा होने का हवाला दिया गया। पुलिस ने बताया कि मोबाइल के कॉल डिटेल एवम् लोकेशन के आधार पर मृतक की पत्नी रुकमणी और उसके प्रेमी रामदेव से कड़ी पूछताछ के दौरान उन्ही के द्वारा कबूल लिया गया। पुलिस के द्वारा दोनों के ऊपर 302 का मामला दर्ज कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया है। इस मामले को सुलझाने में एसडीओपी तस्लीम आरिफ, एसआई बी एन शर्मा, एएसआई टी आर पाटले , आरक्षक आशिसन टोप्पो, तुलसी रात्रे की टीम शामिल थे।

पत्नी और हत्यारे का पुराना प्रेम प्रसंग

पुलिस ने बताया कि मृतक की पत्नी रुकमणी और रामदेव का कॉलेज के समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था और शादी के हो जाने के बाद उसका पति दोनों के बीच कांटा बना हुआ था। उसे रास्ते से हटाने दोनो मौका की तलाश कर रहे थे, और मौका के मिलते ही एक षडयंत्र रच उसके पति की हत्या करवादी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *