January 20, 2022
Breaking News

सरकारी हैंडपंप पर कब्जा , ग्रामीण लगा रहे बार-बार कलेक्टर जनदर्शन में आवेदन 

हरित छत्तीसगढ़ द्वारिका गुप्ता जरही/भटगॉव।

प्रतापपुर विकाशखडं के ग्राम पंचायत कोरंधा का मामला है जिसपे लगातार ग्रामीणों द्वारा पानी की समस्या को लेकर कलेक्टर जनदर्शन में आवेदन लगाया जा रहा था। उस पर प्रतापपुर अनिविभागीय अधिकारी श्री वर्मा द्वारा मौके पर जांच करने आने पर आवेदन सही मिला था उक्त व्यक्ति द्वारा सरकारी हैंडपंप पर कब्जा किया गया था व इट की दीवार से पंप को घेराव किया गया था जिस पर अनुविभागीय अधिकारी द्वारा उक्त व्यक्ति जिसने सरकारी हैंडपंप से पाइप ओर मोटर निकाल पर्सनल ट्यूबेल पंप लगाकर अतिक्रमण किये व्यक्ति को फटकार लगाते हुय तत्काल ट्यूबेल को निकाल उसपे नलकूप के पाइप ओर मोटर लगाने के निर्देश दिये थे । उनके आदेश के अनुसार उक्त व्यक्ति द्वारा ट्यूबेल तो निकाल लिया गया लेकिन पहले का निकल पाइप व मोटर नही लगाया गया।  जबकि लोगो को पानी पीने की विकट समस्या हो रही है । बार बार ग्रामीणों द्वारा इसकी शिकायत कलेक्टर जनदर्शन में किया गया कल दिनांक को जब पटवारी अनिविभागीय अधिकारी प्रतापपुर के निर्देश में मौके जांच में  आया तो उसके द्वारा भी अतिक्रमण किये व्यक्ति का सांथ दिया गया व उक्त व्यक्ति द्वारा जो कहा गया वही लिखकर दिया गया जिससे कोरंधा के ग्रामीणों में भारी आक्रोश है । वही ग्रामवाशियों का कहना है कि अगर जल्द से जल्द इसका निराकरण नही किया गया तो सभी वार्डवाशी पानी की समस्या को लेकर ठोस कदम उठाने को मजबूर होंगे ।

कलेक्टर जनदर्शन से उठ रहा लोगो का विश्वाश
मामला सुरजपुर जिला के प्रतापपुर विकाशखडं अंतर्गत ग्राम कोरंधा का है जिसपे की पानी की समस्या को लेकर गर्मी की महीनों से लेकर अभी तक लगभग 4 बार जनदर्शन में गुहार लगा चुके है लेकिन किसी प्रकार की कार्यवाही आवेदन में होते नही दिख रही है । मामला भी है पानी की जिसपर गाँव के उक्त व्यक्ति द्वारा कब्जा कर लिया गया है। ग्रामीण पीने की पानी को जूझते नजर आते है लेकिन बार बार गुहार लगाने पर भी किसी प्रकार की कार्यवाही य्य निराकरण नही होने पर ग्रामवाशियो का कहना है कि ऐसे में हम अपनी शिकायत लेकर कहा जाय जब हमारा कोई सुन नही रह हमे पीने को पानी नही मिल रहा है । नल ल पाइप व मोटर उक्त व्यक्ति द्वारा निकल लिया गया है । अब हम अपनी शिकायत लेकर कहा जाय।

पटवारी की कार्यप्रणाली में लोगो को नही भरोसा
उक्त मामले की जांच के लिये जब हल्का पटवारी को अनिविभागीय अधिमारी द्वारा भेजा गया तो वह पटवारी अतिक्रमण किए व्यक्ति के घर ही बैठकर उसके कहे अनुसार पूरी पंचनामा तैयार कर ली व शिकायतकर्ता व आसपास के लोगो के बातों को नजरअंदाज करते हुए कहा कि अधिकारी में हु जैसा लिखूंगा वही सही है । इस बात से साफ पता चलता है कि इस पूरे मामले में पटवारी की कही न कही मिलीभगत है । जिससे ग्रामीणों में  संसय है कि वह गलत रिपोर्ट आगे भेजेगा । पटवारी के कार्यप्रणाली से गाँव के निवाशी खुश नही है वह कभी ग्राम में आता नही व लोगो को अपनी समस्याओं के लिये इधर उधर भटकना पड़ता है । कहने पर कहा जाता है कि मुख्याल में बैठता हु । सरकारी नियम के अनुसार पटवारी को हल्का के सभी ग्रामो में कार्यलय में एक दिन बैठना होता है ग्राम सभा द्वारा भी दिन निर्धारित किया गया है लेकिन पटवारी के द्वारा सभी नियम कानून को ठेंगा दिखाया जा रहा है ।

प्रतापपुर अनुविभागीय अधिकारी से बात करने पर

प्रतापपुर अनिविभागीय अधिकारी से इस मामले की बात करने पे उनके द्वारा कहा गया कि मामला पानी से सम्बंधित है इस पर कार्यवाही की जाएगी जनदर्शन में आवदेन मिलने पर हल्का पटवारी को पंचनामा के लिए मेने मौके पर जाकर बनाने कहा था । लेकिन पटवारी के खिलाफ लोगो की शिकायत व उसकी बनाई पंचनामा में गलत बात लिखकर अतिक्रमण किये लोगो का पक्ष अगर लिया गया है तो उस पर भी कार्यवाही की जायेगी। व उक्त मौके पर मैं खुद जाकर देखूंगी और अगर मामला सही पाया जाता है पानी पीने से किसी को वंचित रखा जा रहा है सरकारी हैंडपंप में कब्जा करके तो उस पर दंडात्मक कार्यवाही की जायेगी।

पटवारी ने बनाया पंचनामा-

इस पूरे मामले में सबसे हास्यपद बात है कि हल्का पटवारी बसन्त द्वारा पंचनामा तैयार किया गया जिसपे अनपढ़ की तरह लिखा गया कि उक्त हैंडपंप जिसपे कब्जा है उसके ठीक 10 मीटर पश्चिम में हैंडपंप व 20 मिटर दछिन में ट्यूबेल है । सवाल है कि क्या सरकारी कर्मचारी या पीएचई विभाग की कौन से नियम में हीई कई 2 मिटर के अंदर 2 हैंडपंप व 1 ट्यूबेल खोद दिया गया । पटवारी की बनाई पूरी पंचनामा पछपात भरा दिखा जो कि शाशन को धोखा देने वाला है । एक पटवारी की ऐसी पंचनामा जो लोगो के मनोरंजन के लिये बना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *