December 4, 2021
Breaking News

मुगलसराय का नाम पंडित दीनदयाल उपाध्याय करोगे तो ‘6 इंच छोटा’ कर देंगे पोस्टर

चंदौलीमुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर … कर देने को लेकर धमकी भरा पोस्टर जारी किया गया है.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के पड़ोसी जिले चंदौली के मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम करने पर 6 इंच छोटा करने की धमकी पोस्टर चिपकाकर दी गई है. पोस्टर मुगलसराय रेलवे स्टेशन के सटे इलाकों में चिपके मिले. सूचना मिलते ही पुलिस-प्रशासन मे हड़कंप मच गया. पुलिस ने सभी पोस्टरों को हटवाकर अज्ञात के खिलाफ धारा 504 व 506 में मुकदमा दर्ज किया है. मामले की जांच जारी है. यूपी के नक्सल प्रभावित चंदौली जिले के मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम करने पर 6 इंच छोटा करने की धमकी पोस्टर चिपकाकर दी गई है। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के जिले में रविवार की सबेरे धमकी भरे यह पोस्टर मुगलसराय रेलवे स्टेशन के सटे इलाकों में चिपके मिले। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस-प्रशासन मे हड़कंप मच गया। पुलिस ने पोस्टर को उखाड़कर फेंकने के साथ ही अज्ञात के खिलाफ धारा 504 व 506 में मुकदमा दर्ज किया गया है। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह का जहां पैतृक गांव इसी जिले में है वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर महेंद्र नाथ पाण्डेय यहां के सांसद भी है। इस पोस्टर में नाम बदलने में जुटे 13 लोगों को चिन्हित करने की बात करते हुए यह धमकी दी गयी है।

मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलने को लेकर विगत कई वर्षों से राजनीति गरम रही है। स्थानीय सांसद डॉक्टर महेंद्र नाथ पाण्डेय के अथक प्रयास के बाद मुगलसराय जंक्शन का नाम पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर रखे जाने की प्रक्रिया अंतिम दौर में है। वहीं इसको लेकर धरना प्रदर्शन और आंदोलन की प्रक्रिया लगातार जारी है।

दरअसल नाम बदलने को लेकर कांग्रेस पार्टी के अपने तर्क हैं. कांग्रेस चाहती है कि देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी के नाम पर इसका नाम रखा जाए, क्योंकि यहां शास्त्री जी की जन्मस्थली है. इसी मांग को लेकर लाल बहादुर शास्त्री न्यास समिति आंदोलन भी कर रही है. वहीं बीजेपी सांसद का तर्क है कि ट्रेन में घायल होने के पश्चात मुगलसराय यार्ड में ही पंडित जी का शव मिला था, लिहाजा स्टेशन का नाम उनके नाम पर रखा जाए. वही लाल बहादुर शास्त्री न्यास समिति इसको लेकर आंदोलनरत है।

मुगलसराय के नाम बदलने की सरकारी कसरत के बीच धमकी भरे इस पोस्टर से पुलिस-प्रशासन में हड़कंप मच गया। मजेदार बात यह है की पोस्टर में डीएम-एसडीएम से पब्लिक के पक्ष में लड़ाई लड़ने की अपील की गई है। धमकी भरे इस पोस्टर को लेकर पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने बताया कि अज्ञात के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर पोस्टर लगाने व छपवाने वाले की आइडेंटिफिकेशन की जा रही है ताकि गिरफ्तारी की जा सके ।एशिया के सबसे बड़े रेलवे मार्शलिंग यार्ड और भारतीय रेलवे का ‘क्लास-ए’ मुगलसराय स्टेशन एक बार फिर चर्चा में है.इस बार अपनी व्यापकता के लिए नहीं, बल्कि नाम बदले जाने को लेकर. इसका नाम बदलकर पंडित दीन दयाल स्टेशन रखे जाने का प्रस्ताव है. सरकार के इस फैसले पर मुगलसराय के लोगों ने कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की है. बता दें कि योगी आदित्यनाथ के CM बनने के बाद से पूरे UP में कई मार्गों, चौराहों और सार्वजनिक स्थानों के नाम बदले गए हैं। लखनऊ के कई चौराहों और सड़कों के नाम भी इसी क्रम में बदले गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *