October 1, 2020
Breaking News

कलाम की मूर्ति के आगे गीता रखा तो हो गया विवाद, अब कुरान और बाइबल भी है वहा

तमिलनाडु के रामेश्वरम में27 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अब्दुल कलाम की पुण्यतिथि पर उनके गृहनगर पीकारुंबू में कलाम की वीणा बजाते हुए लकड़ी से बनी एक प्रतिमा का अनावरण किया था प्रतिमा के ठीक सामने गीता राखी गयी थी अनावरण के कुछ ही घंटो बाद प्रतिमा के पास गीता रखने को लेकर विवाद शुरू हो गया डीएमके समेत कई राजनीतिक पार्टियों ने मेमोरियल में वीणा बजाते हुए कलाम की मूर्ति और उसके पास भगवद्गीता के श्लोक लिखवाए जाने पर विरोध दर्ज कराया है। मामला तूल पकडऩे के बाद प्रतिमा की देख-रेख कर रही संस्था की ओर से सफाई दी गई कि कलाम के हाथ में वीणा इसलिए है, क्योंकि पूर्व राष्ट्रपति को वीणा से खास लगाव था। इस धर्म और राजनीतिक मंशा से नहीं किया गया है, हालांकि प्रतिमा के आगे गीता रखे जाने पर कोई सही तर्क नहीं दिया गया और विवाद का खत्म करने के लिए प्रतिमा के अब कुरान और बाइबल भी रख दी गई है। प्रतिमा के आगे भगवत-गीता रखे होने से विवाद शुरू होता देख  आनन-आनन में प्रतिमा के आगे अब कुरान और बाइबल भी रख दी गई। कलाम के परिजनों का कहना है कि पूर्व राष्ट्रपति की प्रतिमा के पास सभी धर्मों के महान ग्रन्थों के अंश होने चाहिए। वही डीएमके नेता स्टालिन ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि कलाम की प्रतिमा के पास भगवद्गीता की मौजूदगी सांप्रदायिकता थोपने की एक कोशिश की गयी थी । वीसीके नेता तिरुमवलन ने कहा कि कलाम की प्रतिमा के पास भगवद्गीता को जगह देकर कहीं कलाम को हिंदू धर्म के महान प्रेमी के रूप में पेशकरते हुए  मुस्लिमों का भी अपमान करने की मंशा जताई  बहरहाल अब प्रतिमा के साथ गीता ,बाईबिल और कुरान तीनो ग्रन्थ रख दिए गये है/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *