Sharing is caring!

मजदूरी के लिए दर-दर भटक रहे राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र पन्डो जनजाति


पप्पू जायसवाल
बिहारपुर ==सूरजपुर जिले के दूरस्थ क्षेत्र चांदनी बिहारपुर के ग्राम कोल्हुआ में स्टॉप डैम का निर्माण हुआ है जो कि गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान के अंतर्गत महूली बीट में आता है जिसकी लागत राशि ₹20लाख है

स्टॉप डेम का कार्य जनवरी में प्रारंभ हुआ था जिसमें ग्राम कोल्हुआ के पन्डो जनजातियों ने मजदूरी कार्य किया था लेकिन आज तक राष्ट्रपति के दत्तक पुत्रों को मजदूरी भुगतान नहीं किया गया है मजदूरों द्वारा मजदूरी की मांग करने पर गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान के महुली वीट के वन परिक्षेत्र अधिकारी व वनरक्षक के द्वारा 3 महीने से मजदूरों की आजकल मजदूरी भुगतान करने की बात कही जा रही है लेकिन आज पूरे 5 माह बीत जाने के बाद भी मजदूरो की मजदूरी भुगतान नहीं हो सकी है

*वहीं जब रेंजर बटाई राम से पूछा गया तो उनके द्वारा बताया गया कि डीएफओ द्वारा चेक नहीं काटा जा रहा है जिसके वजह से हम मजदूरों की मजदूरी भुगतान व सामग्री का भुगतान नहीं कर पा रहे हैं*
*वही रेंजर बटे राम के द्वारा यह भी कहा गया कि मजदूर गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान कार्यालय बैकुंठपुर में जाकर घेराव करें हम उनके साथ हैं*

मजदूरों का कहना है कि इस सप्ताह के अंत तक अगर हमारी मजदूरी भुगतान नहीं हुई तो हम गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान कार्यालय बैकुंठपुर का घेराव करेंगे और सूरजपुर कलेक्टर महोदय से मजदूरी को लेकर ज्ञापन सौंपेंगे

गौरतलब है कि इसके साथ और भी स्टॉप डैम का निर्माण हुआ है मोहरसोप ओर भुन्डा मे गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान के अधिकारियों द्वारा गोल मटोल जवाब देकर मजदूरी भुगतान के लिए टालमटोल किया जा रहा है

Sharing is caring!