November 29, 2021
Breaking News

तीन लाख युवा जाएंगे जापान,, मोदी सरकार रोजगार ट्रेनिंग के लिए जापान भेजेगी

मोदी सरकार 3 से भी अधिक सालों से लगातार बेरोजगारी के गम्भीर मामले पर घिरती रही हैं लेकिन अब सरकार के इस प्लान से देश के बेरोजगार युवाओं को नौकरी मिलना चुटकी का काम हो जाएगा।
दरअसल केंद्र सरकार के कौशल विकास कार्यक्रम के तहत 3 लाख से भी अधिक भारतीय युवाओं को जापान को नौकरी प्रशिक्षण के लिए भेजने के प्लान पर काम पूरा कर चुकी है। भारत पहले से काम कर रहे तीन लाख (आन जॉब) युवाओं को तीन से पांच साल के प्रशिक्षण के लिए जापान भेजेगा. केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बुधवार को कहा कि सरकार के कौशल विकास कार्यक्रम के तहत इन युवाओं को जापान भेजा जाएगा. भारतीय तकनीकी इंटर्न के कौशल प्रशिक्षण की लागत का बोझ जापान वहन करेगा. प्रधान ने बताया कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत और जापान के बीच तकनीकी इंटर्न प्रशिक्षण कार्यक्रम (टीआईटीपी) के लिए सहयोग के समझौते (एमओसी) पर दस्तखत को मंजूरी दे दी है. प्रधान ने कहा कि उनकी तीन दिन की तोक्यो यात्रा के दौरान इस एमओसी पर दस्तखत हो सकते हैं. प्रधान की तोक्यो यात्रा 16 अक्टूबा से शुरू हो रही है.प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया कि टीआईटीपी तीन लाख भारतीय तकनीकी इंटर्न को तीन से पांच साल के लिए प्रशिक्षण को जापान भेजने का महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है. उन्होंने कहा कि इन युवाओं को अगले तीन साल में प्रशिक्षण के लिए भेजा जाएगा. इसमें जापान वित्तीय सहयोग देगा.अब भारत के युवा जापान जा कर तकनीकी के क्षेत्र में नौकरी पैदा करने का प्रशिक्षण लेंगे जिससे देश में बेरोजगारी को खत्म करना आसान हो जाएगा।
कौशल विकास और उद्यमिता केंद्र मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बुध्दबार को इसका खुलासा करते हुए कहा कि जापान भारतीय तकनीकी प्रशिक्षकों के कौशल प्रशिक्षण की वित्तीय लागत को सहन करेगा। और तकनीकी अंतर प्रशिक्षण कार्यक्रम (टीआईटीपी) पर भारत और जापान के बीच मेमोरेंडम ऑफ कोऑपरेशन (एमओसी) पर हस्ताक्षर करने को मंजूरी दे दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *