Sharing is caring!

cd jawilars

कांग्रेसियों ने तिलक, आजाद की जयंती व महंत की पुण्य तिथि मनाई 

हरित छत्तीसगढ़ पत्थलगांव ///कांग्रेस कार्यकर्ताओ ने  पत्थलगांव  में बालगंगाधर तिलक, चंद्रशेखर आजाद की जयंती और पूर्व मंत्री बीडी महंत की पुण्यतिथि मनाई। उनके छाया चित्रों पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर पर ब्लाक अध्यक्ष सत्य नारायण शर्मा  ने कहा कि बीड़ी महंत सही मायने में छत्तीसगढ़ के सच्चे हितैषी थे। 1952 से लेकर 1978 तक अलग अलग विधान सभा के नेतृत्व किए। महंत अपना अंतिम चुनाव 1977 का कांग्रेस के प्रतिकूल परिस्थिति होते हुए भी अस्पताल में होते हुए भी भारी अंतर से चुनाव जीते। जो उनका जनता के प्रति स्नेह, अपनापन था।उन्होंने कहा की छत्तीसगढ़ राज्य स्व. बीडी महंत द्वारा देखे गए स्वप्न का परिणाम है। उनके ही प्रयासों ने इस स्वप्न को मूर्तिमान बनने का पथ-प्रशस्त किया था। कार्यक्रम के जशपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष पवन अग्रवाल  ने कहा कि बालगंगाधर तिलक एक लेखक, पत्रकार, शिक्षक, बैरिस्टर, सामाजिक कार्यकर्ता, स्वतंत्रता सेनानी और चिंतक थे। उनका मानना था कि अनुनय, विनय और आवेदन से देश स्वतन्त्र नहीं हो सकता। इसके लिए क्रियात्मक कार्यवाही जरूरी है। इसी कारण तिलक जी 1907 के कांग्रेस के सूरत अधिवेशन से पृथक हो गए और 1916 में पुनः कांग्रेस में शामिल होकर अनेक आंदोलनों का नेतृत्व किया।  चंद्रशेखर आजाद एक क्रांतिकारी थे।श्री अग्रवाल  ने कहा कि स्व. बिसाहूदास छत्तीसगढ़ के स्वप्नदृष्टा थे। उन्होंने अपने जीवनकाल में कबीर के आदेशों पर चलते हुए मानव सेवा की। छत्तीसगढ़ के विकास में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता।इस मौके पर प्रदेश सचिव  आरती सिंग  ने कहा कि स्व. बीडी महंत छत्तीसगढ़ के प्रथम स्वप्नदृष्टा व सच्चे सपूत थे। नए राज्य के अभ्युदय में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद हमेशा देशवासियों के दिलों में जिंदा  रहेंगे। उन्होंने अपने को किशोर अवस्था में ही आजादी के आंदोलन के लिए समर्पित कर दिया और अपने प्राण न्यौछावर कर देश के युवाओं को स्वतंत्रता आंदोलन में भागीदारी की प्रेरणा दे गए। हरगोविंद अग्रवाल ने कहा कीयोद्धा बाल गंगाधर तिलक ने कहा था कि स्वतंत्रता हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है। उनके इस नारे से देशवासी आंदोलन में कूद पड़े। रामचरण अग्रवाल ने उद्बोधन में स्व. महंत के बारे में  कहा कि हमें उनके ही पथ का अनुसरण करना होगा। उन्होंने कहा की शहीद बाल गंगाधर तिलक व चंद्रशेखर आजाद की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व के बारे में बताया। इस दौरान नगरपंचायत उपाध्यक्ष जनार्दन पंकज ने  कहा कि भारत देश जो अंग्रेजों का गुलाब बना हुआ था उस गुलामी से आजाद कराने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही थी जिसे लोग आज भी याद करते है। युवा नेता राजू गुप्ता ने कहा कि स्व. बिसाहूदास छत्तीसगढ़ के स्वप्नदृष्टा थे। उन्होंने अपने जीवनकाल में कबीर के आदेशों पर चलते हुए मानव सेवा की। छत्तीसगढ़ के विकास में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता।इस मौके पर वेदराम सिदार , मनोरंजन सामंत,पार्षद अशोक गुप्ता खिति भूषण साहू,हुन्डरु यादव ,पार्षद राजू एक्का समेत अन्य कार्यकर्त्ता मौजूद थे

Sharing is caring!