January 20, 2022
Breaking News

15 रुपए GST नहीं पटाया तो आ गया 20 हजार रुपए के जुर्माने का नोटिस

15 रुपए GST नहीं पटाया तो आ गया 20 हजार रुपए के जुर्माने का नोटिस
नई दिल्ली/Dailyhunt एक लाख प्रतिशत जुर्माना लगाए जाने के बारे में शायद आपने पहले कभी नहीं सुना होगा मगर एक व्यापारी पर इतना भारी-भरकम जुर्माना लगाया गया है क्योंकि उसने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के 15 रुपए जमा नहीं किए थे।
आंध्र प्रदेश के टैक्स ऑफिसर की ओर से एक ट्रेडर को इस बारे में कारण बताओ नोटिस भेजकर 20,000 रुपए जुर्माना मांगा गया है। नोटिस में कहा गया है कि यह बात साफ है कि आपने जानबूझ कर जीएसटी कानून के प्रावधानों का उल्लंघन किया जो एक दंडनीय अपराध किया।
बताते चलें कि इस मामले के सामने आने से करीब 2 महीने पहले सरकार ने देश भर में करीब 200 अधिकारियों से कहा था कि वे ऐसे ट्रेडर्ज और दुकानदारों की शिनाख्त करें जो जीएसटी के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। इसके लिए सरकार ने अधिकारियों से कहा था कि वे खरीदारी करके जीएसटी नियमों का उल्लंघन करने वाले कारोबारियों, थोक व्यापारियों और खुदरा दुकानदारों का पता लगाएं।
इस मामले के सामने आने के बाद कयास लगाया जा रहा है कि अधिकारियों ने कार्रवाई करना शुरू कर दिया है। 5 सितम्बर को भेजे गए नोटिस में कहा गया है कि आपके यहां आने पर पता चला कि आपने 300 रुपए की रैडीमेड शर्ट एक कस्टमर को बेची। इसकी पूरी रकम लेने के बावजूद टैक्स इनवॉइस नहीं दी और इस तरह आपने जी.एस.टी. का भुगतान नहीं किया। जीएसटी कानून में जुर्माने की रकम कितनी हो, इसका जिक्र नहीं किया गया है और इसे टैक्स अधिकारियों के विवेक पर छोड़ दिया गया है।
जीएसटी से पहले के सेवा कर के लिए पुनरीक्षित रिटर्न
केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीईसी) ने स्पष्ट किया है कि 1 जुलाई से वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने से पहले के सेवा कर का 30 जून के बाद भुगतान करने वालों को एसटी-3 पुनरीक्षित रिटर्न भरना होगा। सीबीईसी ने यहां जारी बयान में कहा कि इस संबंध में आज ही परिपत्र जारी किया गया है। उसने स्पष्ट किया है कि जिन मामलों में 1 जुलाई, 2017 से पहले सेवा कर संग्रहित किया गया है लेकिन उसका भुगतान 5 या 6 जुलाई, 2017को किया गया है उन मामलों में एसटी-3 फार्म के खंड में पुनरीक्षित रिटर्न भरनाहोगा।

1 thought on “15 रुपए GST नहीं पटाया तो आ गया 20 हजार रुपए के जुर्माने का नोटिस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *