July 25, 2021
Breaking News

पाकिस्तान में आज तक किसी भी प्रधानमंत्री ने पूरा नहीं किया अपना पांच साल का कार्यकाल

पाकिस्तान के इतिहास पर नजर डाले तो यह ख़ुलासा सामने आएगा की अब तक पाक एक भी प्रधानमंत्री अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया है.अपने  70 साल के इतिहास के दौरान अब तक  पाकिस्तान का एक भी प्रधानमंत्री अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया.  सबसे पहले आजादी के बाद पाकिस्तान के प्रथम  प्रधानमंत्री  लियाकत अली खान  14 अगस्त 1947 को शपथ लिए और  16 अक्टूबर 1951 को उनको  गोली मारकर हत्या कर दी गई. इसके बाद 17 अक्टूबर 1951 को ख्वाजा नज़ीमुद्दीन प्रधानमंत्री बने उन्हें भी 17 अप्रैल 1953 को उन्हें अपना पद छोड़ना पड़ा. इसके पश्चात 17 अप्रैल 1953 को  मोहम्मद अली बोगरा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने. वर्ष 1955 में गवर्नर जनरल  ने उन्हें इस पद से  हटा दिया. उनके बाद चौधरी मोहम्मद अली ने प्रधानमंत्री का पद संभाला. अली का जन्म जालंधर में हुआ था और वे सिविल सर्वेंट भी थे. करीब एक साल के बाद 1956 में उन्हें अपना पद छोड़ना पड़ा था. सन 1956 से लेकर 1958 के बीच चार लोग इस पद पर रहे. 1948 से लेकर 1958 के बीच सात प्रधानमंत्री बदले जा चुके थे. यानी औसत निकले जाए तो एक प्रधानमंत्री का कार्यकाल एक साल पांच महीने के करीब था.नवाज शरीफ 6 नवंबर 1990 को पहली बार प्रधानमंत्री बने थे और 18 जुलाई, 1993 को उन्हें पद छोड़ना पड़ा था. फिर 17 फरवरी 1997 को वे दोबारा प्रधानमंत्री बने और 12 अक्टूबर 1999 तक प्रधानमंत्री रहे. तीसरी बार 5 जून 2013 को प्रधानमंत्री का पदभार संभाला लेकिन 28 जुलाई, 2017 को उन्हें अयोग्य घोषित कर दिया गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *