November 15, 2019
  • 8:28 PM रायगढ़ लोकसभा सांसद गोमती साय पूरी सादगी से मिली कार्यकर्ताओं से
  • 8:20 PM मंदिर परिसर में हुआ सीसी रोड का भूमि पूजन
  • 5:51 PM संपूर्ण सविलियन, वेतन विसंगति, क्रमोन्नति सहित शिक्षक हित के कार्य हेतु 17 नवंबर 2019 को जिला रायगढ़ में होगा संयुक्त शिक्षक संघ का गठन।
  • 5:28 PM लगातार चोरी की वारदात से सूरजपुर नगर के लोग दहशत में 
  • 5:19 PM हरी झंडी दिखाकर दोस्ती सप्ताह की गाड़ी को किए रवाना

Sharing is caring!

 

पत्नि की तबियत खराब होने पर रिलीविंग के लिए सीएमएचओ से लगाते रहे गुहार, उधर स्वास्थ्य संयोजक की पत्नी की हुई मौत

शासन के स्थानांतरण नीति का पालन नही कर रहे जिले के अधिकारी|
स्वास्थ्य सचिव ने 12/09/2019 तक प्रदेश के स्थानांतरित कर्मचारियों को कार्यमुक्त कर पालन प्रतिवेदन मांगा फिर भी सीएमएचओ की मनमानी

स्वास्थ्य संयोजक कर्मचारी संघ के प्रदेश मीडिया प्रभारी हरीश सन्नाट ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि दंतेवाड़ा के गीदम ब्लॉक में ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक के पद पर पदस्थ शील कुमार दावना ने अपनी पत्नी के स्वास्थ्य खराब और अपने परिवार वालों की देखभाल हेतू शासन स्तर पर स्वयं के व्यय से स्थानांतरण हेतू अपील किया था, जिसके परिप्रेक्ष में शासन द्वारा स्थानांतरण आदेश में शील कुमार दावना का स्थानांतरण दिनांक 23/08/2019 को उप स्वास्थ्य केंद्र गुमड़ा जिला दंतेवाड़ा से उप स्वास्थ्य केंद्र बिरझूली मगरलोड धमतरी किया गया है, किंतु शासन द्वारा जारी आदेश का पालन करने में जिला दंतेवाड़ा के सीएमएचओ रुचि नही ले रहे हैं, कर्मचारी शील कुमार दावना द्वारा अपनी पत्नी के लंबे समय से स्वास्थ्य खराब होने की जानकारी के साथ अनेकों बार सीएमएचओ कार्यालय में संपर्क किया गया किंतु शासन के स्थानांतरण आदेश के बावजूद भी धमतरी के लिए कार्यमुक्त नही किया गया, अंततः आज दिनांक 6/11/19 को सुबह उनकी पत्नी की मृत्यु के समाचार प्राप्त होने पर वह कर्मचारी सदमें में पड़ गया है और वह यह सच्चाई स्वीकार नही कर पा रहा है कि उसकी पत्नी की मृत्यु हो चुकी है, वह अपने परिवार से दूर लगभग 20 वर्षों से दंतेवाड़ा जिला में पदस्थ है, किंतु कुछ वर्षों से उनकी पत्नी का स्वास्थ्य ठीक नही रहता था इसलिए उसने अपना स्थानांतरण स्वयं के व्यय से करवाया था ताकि उसके साथ रहकर अपनी पत्नी का अच्छे से ईलाज करा सके, किंतु शासन के आदेशों का उसके जिले के अधिकारी नही कर पा रहे हैं |
स्वास्थ्य संयोजक कर्मचारी संघ के संरक्षक विजय कुमार झा, प्रांताध्यक्ष टारजन गुप्ता एवं प्रांतीय सचिव प्रवीण ढ़ीडवंशी ने इस घटना के प्रति अपना दुख व्यक्त करते हुए बताया कि दंतेवाड़ा जिले में स्वास्थ्य विभाग के लगभग 22 कर्मचारीयों का स्थानांतरण शासन द्वारा किया गया है जिसमें से सीएमएचओ डॉ.एस.पी.एस सांडिल्य द्वारा 20 कर्मचारियों को स्थानांतरित स्थान हेतू कार्यमुक्त कर दिया गया है किंतु 2 कर्मचारी जो कि ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक के पद पर पदस्थ है जिसमें शील कुमार दावना और अशोक कुमार नाग है, इन्हे स्थानांतरीत स्थान के लिए कार्यमुक्त नही किया जा रहा है, अब ये बात समझ से परे हैं कि 20 कर्मचारीयों को कार्यमुक्त कर दिया गया किंतु 2 कर्मचारीयों के साथ सीएमएचओ डॉ.एस.पी.एस. शांडिल्य कि कोई व्यक्तिगत द्वेष है या कुछ और जो इतनी परेशानियों से अवगत होते हुए भी इन 2 कर्मचारियों नही कर रहे हैं| संघ द्वारा ऐसे निष्ठुर और निर्दयी सीएमएचओ जो शासन और प्रशासन के आदेशों को ताक पे रखकर जिले में अपनी मनमानी करते है,के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की मांग मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री और स्वास्थ्य सचिव से की जायेगी ताकि कोई भी अधिकारी इस तरह की मनमानी भविष्य में ना कर सके |

Sharing is caring!

haritwnb

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT