November 15, 2019
  • 8:28 PM रायगढ़ लोकसभा सांसद गोमती साय पूरी सादगी से मिली कार्यकर्ताओं से
  • 8:20 PM मंदिर परिसर में हुआ सीसी रोड का भूमि पूजन
  • 5:51 PM संपूर्ण सविलियन, वेतन विसंगति, क्रमोन्नति सहित शिक्षक हित के कार्य हेतु 17 नवंबर 2019 को जिला रायगढ़ में होगा संयुक्त शिक्षक संघ का गठन।
  • 5:28 PM लगातार चोरी की वारदात से सूरजपुर नगर के लोग दहशत में 
  • 5:19 PM हरी झंडी दिखाकर दोस्ती सप्ताह की गाड़ी को किए रवाना

Sharing is caring!

मुख्यमंत्री तक पहुंचाऊंगा संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों की आवाज – विधायक राजमन बेंजाम

प्रदेश के एक छोर जशपुर से लेकर दूसरे छोर बस्तर तक संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों की आवाज गूंजने लगी है और आवाज भी ऐसी की सीधे जनप्रतिनिधियों तक इसकी पहुंच है । संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों ने सधी हुई रणनीति के तहत पहले “संविलियन अधिकार मंच” खड़ा किया और उसके बाद प्रदेश संयोजक विवेक दुबे के नेतृत्व में सभी जिलों में ज्ञापन सौंपने का कार्यक्रम बनाया इसके अंतर्गत अब शिक्षाकर्मी लगातार प्रदेश के विधायकों को ज्ञापन सौंपकर अपनी बात रख रहे हैं और हड़ताल से परे यह रणनीति जनप्रतिनिधियों को भी पसंद आ रही है और वह भी शिक्षाकर्मियों की तरफ से मुख्यमंत्री तक बात पहुंचाने का आश्वासन दे रहे हैं ।
आज इसी कड़ी में बस्तर जिले के चित्रकूट विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत संविलियन अधिकार मंच की कु स्मृति कश्यप के नेतृत्व में संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों ने चित्रकूट विधानसभा के विधायक राजमन बेंजाम से मुलाकात की और उन्हें अपनी परेशानियों से अवगत कराया । चर्चा में शिक्षाकर्मियों ने विधायक को बताया कि उन्हें पंचायत विभाग में समय पर वेतन तक नहीं मिलता है और इसके लिए भी उन्हें दो-तीन माह इंतजार करना पड़ता है इसके अतिरिक्त विगत 3 सालों से शिक्षाकर्मियों को महंगाई भत्ता दिया ही नहीं गया है जिसके चलते उन्हें जबर्दस्त आर्थिक नुकसान सहना पड़ रहा है , स्थानांतरण नीति भी प्रदेश में शिक्षाकर्मियों के लिए जारी ही नहीं की गई ऐसे में इन समस्त परेशानियों का हल संविलियन ही है । शिक्षाकर्मियों ने विधायक महोदय से निवेदन किया कि अब प्रदेश में मात्र 25000 शिक्षाकर्मी संविलियन से वंचित है ऐसे में सरकार अपने जनघोषणा पत्र के वादे के मुताबिक उनका संविलियन कर देती है और उसके बाद नई भर्ती करती है तो शिक्षाकर्मियों को भी न्याय मिल जाएगा और बेरोजगार भाई बहनों को नौकरी भी और न्यायालयीन प्रक्रिया भी समाप्त हो जाएगी जो उन्हें मजबूरी में दायर करना पड़ा है ।

शिक्षाकर्मियों की बात सुनने के बाद विधायक महोदय ने उन्हें विश्वास दिलाया कि वह सरकार के मुखिया तक इस बात को पहुंचाएंगे और जन घोषणा पत्र के क्रियान्वयन के लिए अपनी तरफ से प्रयास करेंगे । विधायक ज़ी ने आश्वस्त किया की आने वाले विधानसभा सत्र में शून्य काल में भी इस प्रश्न क़ो उठाएंगे । राजमन बेंजाम ज़ी से मुलाकात करने वाले प्रतिनिधिमंडल में जिला संयोजक प्रकाश महापात्र के साथ जगेशर राम यादव , सनत पटेल , शत्रुहन कुमार केराम , हलधर बीसाही , नीलेश टोप्पो, सुभाषिनी , लता , प्रमिला पोयाम , रीता कूजूर , मेघनाथ ध्रुव , रामनाथ भोई , त्रिलोचन ध्रुव , हेमंत कंवर , भारती ध्रुव , संगीता सिंग , वैशाली ,ज्योत्सना , डिलेश , तारेश साहू , प्रदीप टेंबुलकर, नेत्रीदेवी , विजय सिदार , एस . यादव , ममता नागेश , दूल्लाभनाथ शामिल थे ।

इस मुद्दे पर चर्चा करते हुए संविलियन अधिकार मंच के प्रदेश संयोजक विवेक दुबे और जिला संयोजक प्रकाश महापात्र ने बताया कि पंचायत विभाग में फंसे शिक्षाकर्मियों की दुर्दशा प्रदेश के किसी भी जनप्रतिनिधि से छिपी नहीं है ऐसे में जब हम उन्हें अपनी समस्याएं बता रहे हैं तो उनका भी पूरा साथ हमें मिल रहा है और वह भी हमें वादा कर रहे हैं कि हमारी बात प्रदेश के मुखिया तक स्वंय पहुंचाएंगे । चित्रकूट के नवनिर्वाचित विधायक राजमन बेंजाम जी ने भी हमें भरोसा दिलाया है कि वह हमारी आवाज बनकर माननीय मुख्यमंत्री जी से चर्चा करेंगे और विधानसभा में भी हमारी बात रखेंगे जिसका हम स्वागत करते है । प्रदेश के 28 जिलों में हमारी टीम विधायकों से मिलेगी और संविलियन के मांग को लेकर ज्ञापन सौंपेगी ताकि जो लकीर पूर्ववर्ती सरकार ने खींची है वह हमेशा हमेशा के लिए मिट सके ।

Sharing is caring!

haritwnb

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT