January 21, 2020
  • 8:28 PM चीन में इंसान से इंसान में फैल रहे वायरस से छह मरे, डब्ल्यूएचओ ने बुलाई आपात बैठक
  • 8:10 PM अब होमगार्ड सरकार से नाराज, आंदोलन की चेतावनी
  • 7:58 PM घर के सामने खड़ा ट्रैक्टर चोरी
  • 7:31 PM रायपुर: शराब दूकान में खड़ी शराब से लदी ट्रक से शराब चोरी
  • 6:55 PM ड्रॉप -रो बाल प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त कर पारुल कश्यप ने जीता गोल्ड मेडल

Sharing is caring!

स्कूलों में सुबह-शाम प्रार्थना स्थल का फोटो भेजने वाले आदेश पर भड़का फेडरेशन, जाकेश साहू बोले… ऐसे तानाशाह डीईओ को तत्काल वापस बुलाए राज्य सरकार

रायगढ़ //-
जिला शिक्षा अधिकारी ने एक अनोखा आदेश जिले के सभी प्राथमिक, मिडिल, हाई एवँ हायर सेकेंडरी स्कूलों के लिए जारी किया है जिसके अनुसार जिले के सभी स्कूलों में अब सुबह 10 बजे स्कूल खुलते समय एवँ शाम को 4 बजे स्कूल बंद होते समय प्रार्थना के वक्त सभी शिक्षकों व बच्चों का प्रार्थना स्थल पर फोटो खींचकर प्रतिदिन, संकुल समन्वयक को संकुल ग्रुप में डालना है।
रायगढ़ डीईओ के उक्त आदेश से फेडरेशन काफी गुस्से में है तथा उक्त डीईओ को तानाशाह बताते हुए राज्य सरकार से मांग की है कि ऐसे डीईओ को सरकार तत्काल वापस बुलाए तथा डीईओ से हटाकर किसी हायर सेकेंडरी स्कूल का प्रिंसिपल बनाएं। छत्तीसगढ़ प्राथमिक शिक्षक फेडरेशन के प्रदेशाध्यक्ष जाकेश साहू ने इस मामले में तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हम स्कूल व कक्षाओ का प्रत्येक घण्टे फोटो भेजने को तैयार, हर घण्टे स्कुलो में पढ़ाते हुए हम विभाग को फोटो भेजेंगे बशर्ते इसके लिए सरकार हमें पूरी सुविधाएं उपलब्ध कराए।
अभी शिक्षक स्वयम का मोबाइल इस्तेमाल करते है, उक्त कार्यो में शिक्षक का, स्वयम का डाटा खर्चा होता है। यदि सरकार सारा कार्य मोबाइल से करा रही है तो उन्हें प्रत्येक शिक्षको को मोबाइल एवँ डाटा हेतु प्रतिमाह मोबाइल भत्ता देना होगा।
➡ *राज्य शासन से कोई आदेश प्रसारित नहीं होने के बाद भी डीईओ ने जारी किया मनमानी तुगलकी आदेश :-*
फेडरेशन के प्रांताध्यक्ष जाकेश साहू ने कहा कि स्कूलों में प्रार्थना के वक्त सुबह-शाम फोटो भेजने का राज्य शासन से ऐसा कोई भी आदेश अभी तक नहीं है उसके बाद भी अकेले रायगढ़ जिले में डीईओ ने ऐसे तुगलकी फरमान जारी किया है जो डीईओ की तानाशाही एवँ मनमानी को दर्शाता है।
प्रांताध्यक्ष जाकेश साहू ने कहा कि ऐसी कमरों में बैठे उच्चाधिकारियों को जमीनी कर्मचारियों पर तथा दूरस्थ अंचलों में कार्य कर रहे व वनांचल के स्कुलो में प्रतिदिन सेवा देने वाले ईमानदार शिक्षको पर विश्वास करना होगा। चूंकि प्रदेश के 99.99 % प्रतिशत शिक्षक ईमानदारी से शाला समय पर स्कूल जाता आता है व गांव के स्कुलो में पढ़ रहे गरीब बच्चों को पढ़ाता लिखाता है जिससे कि प्रतिवर्ष स्कुलो का बेहतर रिजल्ट रहता है।
स्कुलो की मॉनिटरिंग करने के लिए पहले से ही प्रधानपाठक, संकुल समन्वयक, एबीईओ, बीईओ आदि विभागीय अमला रहता ही है। साथ ही गांव में शिक्षा समिति भी बनी हुई है जो स्कुलो की शिक्षा व्यवस्था की सतत निगरानी करती है ऐसे में सुबह शाम स्कुलो का फोटो भेजने का मनमानी फरमान जारी करना मतलब यह एक डीईओ की तानाशाही ही है जिसे प्रदेश का शिक्षक संघ कतई बर्दाश्त नहीं करेगा।
➡ *एक सप्ताह में आदेश रद्द नहीं हुआ तो फूंकेंगे डीईओ का पुतला :-*
यदि डीईओ का उक्त तुगलकी व तानासाही फरमान एक सप्ताह के भीतर रद्द नहीं हुआ तो इसके खिलाफ जिले के सभी ब्लाक मुख्यालयों में डीईओ का पुतला फूँक कर उग्र प्रदर्शन किया जाएगा। जिसकी सम्पूर्ण जवाबदारी डीईओ रायगढ़ की होगी।

Sharing is caring!

haritwnb

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT