August 13, 2020
Breaking News

प्रताड़ित दलित लिपिक महीनों से भटक रहा न्याय के लिए, घर में घुस कर मारपीट करने वाले आरोपी राजनीतिक, पुलिस के संरक्षण में खूले आम घुम रहे, दे रहें जान से मारने की धमकी

प्रताड़ित दलित लिपिक महीनों से भटक रहा न्याय के लिए, घर में घुस कर मारपीट करने वाले आरोपी राजनीतिक, पुलिस के संरक्षण में खूले आम घुम रहे, दे रहें जान से मारने की धमकी
शमरोज खान सूरजपुर
सूरजपुर। 13 जनवरी 2020। जिले के रामानुजनगर थानान्तर्गत ग्राम पंचायत बरहोल निवासी दलित लिपिक को प्रेम विवाह की बड़ी किमत चुकानी पड़ी, मामले में दो बच्चों के पिता विवाहित लिपिक सुरेश भारती गांव के ही एक युवति से प्रेम संबंध रहा, युवति द्वारा लगातार विवाह के लिए दबाव बनाया जा रहा था युवक विवाहित होने तथा अंतर्जातीय विवाह के लिए राजी नही था, किन्तु युवति द्वारा लगातार विवाह के लिए दबाव बनाने के साथ माननीय न्यायालय के समक्ष लिखित हल्फनामा दिया गया कि मै यह जानते हुए कि युवक विवाहित तथा दो बच्चों का पिता है, मैं अपनी मर्जी से विवाह कर रही हूँ। जिसके बाद दलित युवक के घर रसूक दार लोगो ने घर पर घुस कर मारपीट के वारदात को अंजाम दिए है। और साथ ही लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है। जिसकी शिकायत दलित दम्पति ने जिलें के आजाक थाना में शिकायत की।

– पुलिस ने जांच में पाया

पुलिस ने जांच में निष्कर्ष निकाला कि पीडिता का परिवार एक ही ग्राम का निवासी है। दोनो एक दूसरे से परिचित है। पीडिता के पति सुरेश भारती 2011 से 2015-16 तक जनपद रामानुजनगर मे सहायक ग्रेड-03 पर पदस्थ था इस दौरान अपने निवास ग्राम बरहोल से जनपद रामानुजनगर वाहन से अवागमन करते थे और उसी रास्ते में एक कुशवाहा का भी घर पड़ता था, जिनकी लड़की रामानुजनगर विद्यालय में बीएससी एवं कम्प्युटर कोर्स कर रही थी। जिस कारण दोनो का आना जाना अक्सर साथ में होता था। इस दौरान श्री भारती तथा उक्त युवती से प्रेम संबंध स्थापित हो गया जो काफी लम्बे से चला आ रहा था। इसी बीच युवती का विवाह ग्राम सिरसी थाना भैयाथान के एक युवक से युवती के माता पिता विवाह कराने के लिए जनवरी 2019 में तय कर दिया था। इसके बाद युवती लिपिक श्री भारती पर और भी ज्यादा शादी करने के लिए दबाव बनाने लगी और दोनो एक ही गांव के होने के कारण एक दुसरे से भलि भाति परिचित थे। प्रेम संबंध बढ़ने के कारण युवती शादी के लिए दबाव बनाने लगी। तो शुरेश भारती युवती को यह कहकर समझाने की कोसिस करने लगे कि तुम तो जानती हो कि मै विवाहित हूॅ एवं मेरे दो बच्चे है,

लिपिक भारती जनपद पंचायत रामानुजनगर में सहायक ग्रेड 3 के पद पर पदस्थ जगसाय सिंह भी युवती को काफी समझाने की कोशिस करते रहे कि श्री भारती विवाहित है एवं बाल बच्चे वाला व्यक्ति है किन्तु युवती का स्पष्ट कहना था कि हमलोग एक गांव के रहने वाले है।

मै उनके विवाह और बच्चों के बारे में जानती हॅू मगर मै शादी करूगी तो उन्ही से नही तो मै आत्महत्या कर लूॅगी और श्री भारती के नाम सुसाईड नोट लिख कर मरूगी वो भी नही बच पायेगे। इस बात को लेकर श्री भारती काफी चिन्तित रहे और यह सारी बातो का जानकारी अपने बिवाहिता पत्नि को दिया। जिसको लेकर पत्नि भी काफी चिन्तित रही, और कहा कि कही आप पर कोई संकंट न आये मै खुद आपको दुसरी शादी के लिए न्यायालय में चल कर शपथ पत्र में अनुमति दे दुगी और विवाहिता पत्नि ने सूरजपुर न्यायालय में  05 नवम्बर 2018 को दूसरी शादी करने के लिए शपथ पत्र दे दिया और कुशवाहा के पुत्री ने भी शादी से पूर्व सूरजपुर न्यायालय में 31 अक्टूबर 2018 युवती भी नोटरी के समक्ष स्वेच्छा से एवं राजी से बिना किसी दबाव के श्री भारती को शादी-शुदा एवं परिवार बाल- बच्चे वाला होने के बावजूद शादी करके पति-पत्नि का दाम्पत्य जीवन निर्वाह करने का शपथ पत्र नोटरी के समक्ष दिया था। श्री भारती, कुशवाहा के पुत्री के दबाव में आकर 13 नवम्बर 2018 को पूर्ण रजामंदी एवं सहमति से 14 नवम्बर 2018 को आर्यव्रत आर्य समाज रायपुर मंदिर में अपना पूरा आधार कार्ड एवं 10वीं, 12वीं, बी.एस.सी. अंकसूची एवं अन्य दस्तावेज लेकर आर्य समाज मंदिर रायपुर में दो गवाह के समक्ष शादी संपन्न कराये तथा आर्य समाज मंदिर से शादी करके पति पत्नि होने का प्रमाण प्रत्र प्राप्त किये। चूकि  भारती एवं कुशवाहा की पुत्री के परिजन युवक एवं युवती का पता साजी कर रहे थें। जिसकी सूचना पुलिस अधीक्षक रायपुर, पुलिस अधीक्षक सूरजपुर एवं थाना रामानुजनगर को शादी का सूचना दिया गया था। शादी की सूचना युवती द्वारा जब अपने परिजनो को दिया गया कि मै शुरेश भारती से शादी कर ली हूॅ।

मै उनके साथ पत्नि के रूप  में अपने स्वेच्छा से जीवन यापन करना चाह रही हॅू मुझे तलाश करने और परेशान होने की आवश्यता नही है। तो युवती से कहा तुम जानते हूए एक शादी-शुदा, बाल-बच्चे वाले दलित व्यक्ति से शादी कर के बहुत गलत कदम उठाये हो, हम लोग कभी माफ नही करेगे बल्कि तुम दोनो को जहा भी मिलोगे हमलोग तुम दोनो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *