January 21, 2020
  • 8:28 PM चीन में इंसान से इंसान में फैल रहे वायरस से छह मरे, डब्ल्यूएचओ ने बुलाई आपात बैठक
  • 8:10 PM अब होमगार्ड सरकार से नाराज, आंदोलन की चेतावनी
  • 7:58 PM घर के सामने खड़ा ट्रैक्टर चोरी
  • 7:31 PM रायपुर: शराब दूकान में खड़ी शराब से लदी ट्रक से शराब चोरी
  • 6:55 PM ड्रॉप -रो बाल प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त कर पारुल कश्यप ने जीता गोल्ड मेडल

Sharing is caring!

छत्तीसगढ़ इन सर्विस डॉक्टर्स एसोसिएशन (सीडा) द्वारा सरकारी अस्पतालों में एक जनवरी से लागू नए ओपीडी समय का लगातार विरोध किया जा रहा है। इसे लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय पत्र जारी कर विरोध कर ओपीडी में सेवा नहीं देने वाले चिकित्सकों का वेतन काटने और कार्रवाई के आदेश दिए है। इसके साथ ही हिदायत दी गई कि व्यवस्था का विरोध सिविल सेवा नियम का उल्लंघन है और कार्रवाई के दायरे में आता है। विरोध करने वाले डॉक्टरों से कहा गया है कि चिकित्सालय का कार्य अति आवश्यक है और आपातकालीन सेवाओं के अंतर्गत आता है। ऐसे में शासकीय अस्पतालों में आने वाले मरीजों का इलाज सुचारू रूप से नहीं किया जा रहा है।

चिकित्सकों को बाह्य रोगियों के उपचार का बहिष्कार किया जाना सिविल सेवा नियम का उल्लंघन है। ऐसे में चिकित्सकों के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए तीन दिवस के अंदर जवाब मांगा गया है।

Sharing is caring!

haritwnb

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT