August 5, 2021
Breaking News

राष्ट्रीय भोजन बनेगी खिचड़ी,देश भक्ति मापने का नया मापदंड, 4 नवंबर को होगा ऐलान

दिल्ली- व्यंजनों का राजा खिचड़ी अब राष्ट्रीय भोजन बनने वाला हैं।4 नवंबर को इसका ऐलान किया जा सकता है. बता दें कि 4 नवंबर को विश्व खाद्य दिवस ( वर्ल्ड फू़ड डे) मनाया जाता है. सरकार ने खिचड़ी को भारतीय राष्ट्रीय भोजन के रूप में पेश करने का मन बनाया है। इसकी घोषणा गुरुनानक जयंती और कार्तिक पूर्णिमा के दिन की जाएगी। एक टन की सरकारी खिचड़ी भी बनाई जाएगी।केंद्र सरकार ने ‘खिचड़ी’ को इंडियन फूड ब्रांड के रूप में पेश करने का मन बनाया है. 4 नवंबर को इसका ऐलान किया जा सकता है। दरअसल दिल्ली में तीन नवंबर से भारत का अब तक का सबसे बड़ा फूड शो – वर्ल्ड फूड इंडिया आयोजित होने जा रहा है. इसमें प्रसिद्ध शेफ संजीव कपूर की अगुवाई में एक समूह 1000 किलो खिचड़ी बनाएगा. इतनी मात्रा में एक साथ खिचड़ी बनाने का यह विश्व रिकॉर्ड होगा और इसका मकसद खिचड़ी को भारतीय व्यंजनों के सिरमौर – ‘ब्रांड इंडिया फूड’ की तरह पेश करना है.

वर्ल्ड फूड इंडिया का आयोजन केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय करवा रहा है और मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक खिचड़ी को बतौर ‘ब्रांड इडिया फूड’ बनाने का प्रस्ताव उसी ने तैयार किया है.सरकार ने खिचड़ी को राष्ट्रीय पकवान बनाने का संकेत पहले हीं दे दिया था।जी एस टी, सेस और विमुद्रीकरण पर कम खिचड़ी नहीं बनाई हैं सरकार ने। सरकार ने बहुत सोच समझ कर ये कदम उठाया हैं। खिचड़ी को भारतीय राष्ट्रीय भोजन बनाने से अनेक फायदे मिलेंगे।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय ने ‘खिचड़ी’ को इंडियन फूड के रूप में पेश करने का आइडिया दिया था, जिसे मंजूर कर लिया गया है. मंत्रालय का तर्क है कि चाहे अमीर हों या गरीब, ‘खिचड़ी’ सबका पसंदीदा खाना है.

खिचड़ी को भारतीय राष्ट्रीय भोजन बनाने से अनेक फायदे मिलेंगे।

सबसे पहले तो देशभक्ति का एक मानक मिल जाएगा। अब राष्ट्र गान पर नहीं खड़े होने वाले कमज़ोर पैर, टूटा दिल के बहानो से लोग भी बच जायेंगे। देशभक्ति के सर्टिफिकेट के लिए साबित करना होगा कि आपने खिचड़ी खाई हैं। जो दिन में जितनी बार इस व्यंजन को खायेगा, उतना ही बड़ा देशभक्त कहलाएगा। खिचड़ी खाने से देशभक्ति का एक स्टैण्डर्ड माप तैयार हो जाएगा। जरूरत पड़ने पर इस बैंचमार्क में थोड़ा बदलाव किया जायेगा।खिचड़ी’ को व्यंजनों का राजा बताया गया है. इसमें चावल, दाल, हरी सब्जियां और सीमित मात्रा में मसाले रहते हैं, जिससे यह काफी स्वादिष्ट भी होती है. खिचड़ी बहुत कम खर्च में और कम वक्त में बन जाती है.नवंबर को दिल्ली में आयोजित खाद्य दिवस कार्यक्रम में शेफ की एक टीम 800 किलो ‘खिचड़ी’ भी बनाएगी. बताया जा रहा है कि गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराने के लिए ऐसा किया जा रहा है. ये ‘खिचड़ी’ ज्वार, बाजरा और दाल से बनाई जाएगी
.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *