July 26, 2021
Breaking News

SC का बड़ा फैसला,पत्राचार के माध्यम से होने वाले सभी तकनीकी कोर्स पर लगाई रोक, नियमित क्लास

नयी दिल्ली :देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीमकोर्ट ने शिक्षा क्षेत्र में एक अहम फैसला लिया है।   सुप्रीम कोर्ट ने आज एक बड़ा निर्णय सुनाते हुए कहा कि तकनीकी शिक्षा कॉरस्पॉडेंस कोर्स के जरिये नहीं दी जा सकती है. कोर्ट ने ओड़िशा उच्च न्यायालय के फैसले को रद्द करते हुए यह व्यवस्था दी है.सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कोई भी तकनीकी शिक्षा पत्राचार माध्यम से नहीं होगी। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का इंजीनियरिंग जैसे कोर्सेज जो पत्राचार माध्यम से हो सकते थे काफी असर होगा।

आज सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि किसी भी तरह की तकनीकी शिक्षा कॉरस्पॉडेंस कोर्स के जरिये नहीं दी जा सकती है. इससे पहले ओडिशा उच्च न्यायालय ने तकनीकी शिक्षा कॉरस्पॉडेंस कोर्स के जरिये कराये जाने की इजाजत दे दी थी.सर्वोच्च न्यायालय ने तकनीकी शिक्षण संस्थान को इस बात के लिए प्रतिबंधित किया है कि वे किसी भी तरह की तकनीकी शिक्षा कॉरस्पॉडेंस के जरिये दे. मसलन इंजीनियरिंग की शिक्षा दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से नहीं दी जा सकती.सुप्रीम कोर्ट ने डिस्टेंस लर्निंग के जरिये इंजीनियरिंग की डिग्री दे रहे संस्थाओं को भी लताड़ा।गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला इसलिए भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि पत्राचार के जरिए तकनीकी शिक्षा का कोर्स करने वालों को प्रैक्टिकल ज्ञान कम होता है या होता ही नहीं है। यह फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के उस आदेश का हवाला दिया जिसमें कहा गया है  कि पत्राचार माध्यम से हासिल की गई ‘कंप्यूटर साइंस’ की डिग्री उन छात्रों के बराबर नहीं मानी जा सकती है जिन्होंने नियमित कक्षा लेकर डिग्री पाई हो। यहां बता दें कि ओडिशा हाईकोर्ट के टेक्निकल एजूकेशन पत्राचार के माध्यम से जारी रखने का फैसला दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *