July 26, 2021
Breaking News

WhatsApp को बड़ा झटका, चीन के बाद अब इस देश में भी WhatsApp हुआ बैन

व्हाट्सएप (WhatsApp) दुनिया के कई देशों में डाउन होने की खबर के बाद एक और बड़ी खबर आ रही है. अब खबर है कि चीन के बाद अफगानिस्तान भी देश में व्हाट्सएप (WhatsApp) को बंद करने की तैयारी कर रहा है.चीन द्वारा मैसेजिंग एप पर प्रतिबंध लगाने के करीब एक महीने बाद अफगानिस्तान ने व्हात्सप पर 20 दिनों के लिए रोक लगा दी है. ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ के अनुसार, अफगानिस्तान सरकार ने कई निजी दूरसंचार कंपनियों को देश में व्हाट्सएप और टेलीग्राम इंस्टैंट मैसेजिंग सेवाओं को निलंबित करने के लिए कहा है.चीन द्वारा सभी लोकप्रिय इंस्टंट मेसेजिंग ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने के करीब एक महीने बाद अफगानिस्तानने शनिवार को देश में वॉट्सऐप पर 20 दिनों के लिए रोक लगा दी है। ‘द न्यू यॉर्क टाइम्स’ के अनुसार, अफगानिस्तान सरकार ने कई निजी दूरसंचार कंपनियों को देश में वॉट्सऐप और टेलिग्राम इंस्टंट मेसेजिंग सेवाओं को निलंबित करने के लिए कहा है। इस कदम को नागरिकों की अभिव्यक्ति की आजादी को कम करने के प्रयास के रूप में भी देखा जा रहा है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक अफगानिस्तान टेलीकॉम रेगुलेटरी ने व्हाट्सएप और टेलीग्राम को पत्र लिखकर दोनों को अपनी सेवाएं तुरंत बंद करने के लिए कहा है.

यह पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. हालांकि अभी यह साफ नहीं है व्हाट्सएप और टेलीग्राम ने अफगानिस्तान में अपनी सर्विस बंद की है या नहीं.अफगानिस्तान के संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने पत्र लिखकर दोनों कंपनियों को सेवाएं बंद करने के लिए कहा है. यह भी खबर है कि अफगानिस्तान में इन दोनों पर प्रतिबंध केवल 20 दिन के लिए है. कहा जा रहा है कि इसके पीछे अफगानिस्तान की खुफिया एजेंसी और राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय है.नाई समूह के कार्यकारी निदेशक अब्दुल मुजीब खलवटगर ने कहा, संविधान के अनुसार, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता अफगानिस्तान में अल्लंघनीय है. व्हाट्सएप और टेलीग्राम अभिव्यक्ति की आजादी के उपकरण हैं. अगर सरकार उन पर प्रतिबंध लगाती है तो इसका मतलब है कि कल वह अफगानिस्तान में मीडिया के खिलाफ भी खड़ी हो सकती है वही वॉट्सऐप और टेलिग्राम पर लगाए गए प्रतिबंध के कारण गुरुवार को स्पष्ट नहीं हो पाए। दूरसंचार नियामक प्राधिकरण के उपनिदेशक ने बताया कि प्रतिबंध सुरक्षा कारणों से लगाए गए हैं। ‘द न्यू यॉर्क टाइम्स’ ने कहा, ‘वॉट्सऐप और टेलिग्राम अकसर तालिबान और अन्य आतंकवादी समूहों द्वारा सरकारी निगरानी से बचने के लिए उपयोग किए जाते हैं।’ अफगानिस्तान सरकार ने कहा कि एक नई तकनीक शुरू करने के लिए इन ऐप्स पर कुछ समय के लिए प्रतिबंध लगाया गया है, क्योंकि उपयोगकर्ताओं ने वॉट्सऐप की सेवा की गुणवत्ता के बारे में शिकायत की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *