June 7, 2020
Breaking News

दिल्ली तबलीगी जमात के मरकज मामले में सख्त हुवे प्रबल प्रताप सिंह जूदेव, कहा- यहां हुए लापरवाही ने देश में कोरोना के फैलाने में जो भूमिका निभाई है यह अति भयावह होगी, प्रशासन से की जल्द जांच की मांग

जशपुर। निज़ामुद्दीन मरकज़ में हुए लापरवाही ने देश में कोरोना के फैलाने में जो भूमिका निभाई है यह अति भयावह, चिंताजनक एवं संवेदनशील मुद्दा है। पता नहीं ऐसी कितनी संस्थाएं चुपके चुपके जिसका संचालन देश विदेशों से होता है ऐसी ही गतिविधियों में शामिल हों और उनके सदस्य कोरोना बम बनकर समाज में घूम रहे हों। जशपुर जिला को लेकर आज मुझे विशेष चिंता हो रही है क्योंकि यहां विदेशों से आकर सामाजिक और धार्मिक गतिविधियों में शामिल होने वालों की संख्या अच्छी खासी होती है। प्रशासन से मैं विशेष आग्रह करता हूँ कि इसकी जांच करे ताकि जशपुर सुरक्षित रह सके।
दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के दौरान मरकज में देश व विदेशियों को मिलाकर लगभग 2000 से अधिक लोगों ने शिरकत की थी, अब कई लोग यहां कोरोनावायरस के पॉजिटिव पाये जा रहे हैं। यहां शामिल लोग देश के कई हिस्सों में जा चुके है जिससे कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा काफी हद तक बढ़ गया है। ऐसे मैं वर्षों से सचेत करता आ रहा हूँ विदेशी ताक़तें भारत को कमज़ोर करने में लगी हैं धर्म प्रचार के नाम पर देशद्रोही गतिविधियां एवं धर्मांतरण का नंगा खेल खेला जा रहा है।टूरिस्ट वीज़ा पर आकर लोग धर्मप्रचार कर रहे हैं इसे कुछ संस्थाएं सरकार की नज़रों से छुपाकर अपने रोल मॉडल के रूप में प्रस्तुत करते हैं कि उनका धर्म कैसे पूरे विश्व में फैल रहा है। इसे गंभीरता से नहीं लिया गया तो ये देश के लिए बहुत बड़ा खतरा बन सकता है।अपने अपने धर्म के प्रचार से मुझे कोई एतराज नहीं है ये उनका हक है पर एक एजेंडे के तहत परिस्थिति का नाजायज फायदा उठाकर सरकार से बातें छुपाकर धर्मांतरण जैसे दुष्कर्म में शरीक रहना देशद्रोह है इसे तत्काल रोका जाना चाहिए । भविष्य में जितनी भी धार्मिक एवं सामाजिक संस्थाएं हैं उन्हें अपनी पूरी गतिविधियों की जानकारी सरकार को उपलब्ध नहीं कराए जाने पर उनकर देशद्रोह का मुकदमा कायम होना चाहिए।आज के ऐसे संवेदनशील परिस्थिति में जिसने भी मानवता के विरुद्ध कार्य किया है उसे कठोर से कठोर सजा मिलनी चाहिए ताकि भविष्य में कोई ऐसा दुस्साहस न कर सके ।केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार से मांग करता हूँ कि ऐसी तमाम संस्थाओं पर जो विदेश से आकर किसी एजेंडे के तहत धर्मांतरण एवं मानवता को शर्मसार करने वाली गतिविधियों में संलग्न पाये जायें उन्हें तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित किया जाए और इसमें संलग्न लोगों की गहन जांच हो ताकि भारतमाता को बचाया जा सके। इस वैश्विक आपदा के समय देश एवं छत्तीसगढ़ की जनता से करबद्ध प्रार्थना है संयम से घर में ही रहें और सरकार के दिशानिर्देशों का पालन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *