July 25, 2021
Breaking News

प्रदेश के शिक्षाकर्मी 20 नवम्बर से अनिश्चितकालीन आंदोलन की राह पर

प्रदेश के शिक्षाकर्मी 20 नवम्बर से अनिश्चितकालीन आंदोलन की राह पर
हरितछत्तीसगढ़ रायपुर
शिक्षक प/ननि मोर्चा के प्रांतीय संचालक मंडल की बैठक सपन्न
20 नवम्बर से अनिश्चित कालीन आंदोलन की बनी रणनीति
मंत्रालय में अल्टीमेटम देकर पंचायत एवं शिक्षा सचिव से 9 सूत्रीय मांगो पर हुआ चर्चा

शिक्षक पंचायत न नि मोर्चा के प्रांतीय संचालक मंडल व पदाधिकारियों की बैठक कलेक्ट्रेट गार्डन रायपुर में दिनाक 08.11.17 सम्पन्न हुआ। जिसमे 20 नवम्बर से अनिश्चित कालीन हड़ताल की सूचना 10 नवम्बर को जिला व 13 नवम्बर को ब्लाक में देने का निर्णय लेने के बाद शिक्षक पंचायत और नगरीय निकाय संवर्ग कर्मचारियों ने बुधवार को छत्तीगढ़ शासन के अधिकारियों से व्यक्तिगत मुलाकात कर 20 नवम्बर को अनिश्चित काल के लिए शाला बहिष्कार का निर्णय सुनाया है। संजय शर्मा की अगुवाई में शिक्षाकर्मी संघ के पदाधिकारियों ने राउत को बताया कि अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के बाद शाला की सम्पूर्ण जवाबदेही शासन प्रशासन की होगी। बुधवार को शिक्षाकर्मी संघ ने पंचायत आयुक्त, स्कूल शिक्षा आयुक्त आदिमजाति कल्याण विभाग संचालक, नगरीय प्रशासन को लिखित में पत्र देकर अनिश्चित काल के लिए स्कूल छोड़ने की जानकारी दी है। शिक्षाकर्मी संघ नेता संजय शर्मा की अगुवाई में पदाधिकरियों ने शासन के अधिकारियों को बताया कि 30 अक्टूबर 2017 को प्रदेश के 146 ब्लाक में 9 सूत्रीय मांग को लेकर लाखों शिक्षाकर्मियों ने धरना प्रदर्शन किया था। रैली निकालकर शासन को 9 सूत्रीय मांग पूरी नहीं होने पर 20 नवम्बर को अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाने की जानकारी भी दी थी। शिक्षाकर्मी संघ पदाधिकारियों ने प्रशासन को बताया कि एक दिवसीय हड़ताल के दो सप्ताह पूरे हो चुके हैं। बावजूद इसके शासन शिक्षाकर्मियों की 9 सूत्रीय मांग को लेकर गंभीर नहीं है। एक दिवसीय धरना प्रदर्शन के बाद कहीं से भी ऐसा नहीं लग रहा है कि सरकार 1 लाख 80 शिक्षाकर्मियों के हितों के बारे में सोच रही है।

इस बात को ध्यान में रखते हुए शिक्षाकर्मी संगठन ने फैसला किया है कि 9 सूत्रीय मांग पर उचित कार्रवाई नहीं होने की सूरत में प्रदेश के सभी शिक्षाकर्मी 20 नवम्बर को शाला का बहिष्कार करेंगे। शिक्षाकर्मियों के अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के बाद सारी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी। मंत्रालय में अनिश्चितकालीन हड़ताल की सूचना देने गए प्रतिनिधिमंडल से अधिकारियों ने चर्चा की। शिक्षा सचिव व पंचायत सचिव से 09 बिंदु के मांगपत्र पर विस्तृत चर्चा हुई। चर्चा के दौरान संविलियन/ सेवा हस्तान्तरण / शासकीयकरण , सातवां वेतनमान ,क्रमोन्नत वेतनमान ,समानुपातिक वेतनमान सहित 09 सूत्रीय मांगों पर विस्तृत चर्चा किया गया। मोर्चा के प्रांतीय संचालको ने बैठक के माध्यम से प्रदेश के समस्त शिक्षक प/ननि सवर्ग से 20 नवम्बर से अनिश्चित कालीन आंदोलन में शत प्रतिशत शामिल होने का अपील किया है।
बैठक व प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश संचालक संजय शर्मा, वीरेंद्र दुबे, केदार जैन, विकाश राजपूत, चन्द्रदेव राय, सुधीर प्रधान, मनोज सनाढ्य, धर्मेश शर्मा, बसंत चतुर्वेदी, शैलेन्द्र पारीक, गिरिजाशंकर शुक्ला, गिरीश साहू, आयुष पिल्ले, चन्द्रशेखर तिवारी, विष्णु शंकर साहू ,दुष्यंत कुम्भकार, अमितेश तिवारी, अभिनय शर्मा ,ताराचंद जायसवाल सहित पदाधिकारी सामिल थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *