July 25, 2021
Breaking News

छत्तीसगढ़ : राष्ट्रीय स्तर के तीरंदाज को मिली चपरासी की नौकरी

हरित छत्तीसगढ़ रायपुर //एक और तो प्रदेश सरकार खेलो को बढ़ावा देने के लिए बड़े बड़े  आयोजन करती नजर आती है वही जब प्रतिभाओ को आर्थिक मदद की बात सामने आये तो फिर सरकार उन्हें उपेक्षित करने में जुट जाती है ऐसा ही एक मामले में प्रदेश सरकार ने  राष्ट्रीय स्तर के तीरंदाज को चपरासी की नौकरी देकर इन दिनों सुर्खियों में है /कई नेशनल अवॉर्ड जीत चुके हैं संतराम बैगा  ने  आमने रिखे तीरंदाजी से प्रदेश का कई मर्तबा नाम रोशन किया है वही इन दिनों आर्थिक आभाव से जूझ रहे इस तीरन्दाज को प्रदेश सरकार ने  चपरासी की नौकरी दी है। विदित हो की संतराम बैगा ने तीरंदाजी की जिला स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक की प्रतियोगिताओं में अपने झंडे गाड़े है /आदिवादी तीरंदाज संतराम बैगा बीते सात सालों में दस बार राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व, वर्ष 2007- 2008 में तमिलनाडु और जमशेदपुर में खेले गए नेशनल टूर्नामेंट में दो सिल्वर मेडल, इसके अलावा 15 स्टेट टूर्नामेंट में छत्तीसगढ़ के लिए 15 गोल्ड मेडल, तीरंदाजी के लिए राज्य के श्रेष्ठ प्रवीर चंद भंजदेव राज्य स्तरीय खेल पुरस्कार से सम्मानित है/जिन्हें राज्य सरकार ने राष्ट्रीय स्तर के इस खिलाड़ी को चपरासी की नौकरी दी है।तीरंदाजी खर्चीला खेल है, इस वजह से इस खेल को संतराम बैगा ज्यादा दिनों तक जारी नहीं रख पाए। उन्होंने प्रदेश सरकार से नौकरी मांगी तो उन्हें चपरासी की नौकरी मिली। लगभग तीन साल तक मेहनत मजदूरी करने के बाद राज्य सरकार ने इस खिलाड़ी की गुहार सुनी और उसे गांव के स्कूल में चपरासी के पद पर नियुक्ति दे दी. संतराम बैगा के मुताबिक कभी भी उसे ऐसी सरकारी सहायता नहीं मिली, जिसकी बदौलत उसके दिन फिरते. अब जाकर उसे चपरासी की नौकरी मिली है.संतराम की इस उपलब्धि और जौहर को चपरासी के पद से तौलने से खिलाड़ी हैरत में हैं. राज्य के तीरंदाजी संघ ने पत्र लिखकर सरकार से संतराम का ओहदा बढ़ाने की मांग की है.वही सरकार का कहना है कि संतराम बैगा को उनकी शैक्षणिक योग्यता के आधार पर नियुक्ति दी गई है। वह सिर्फ बारहवीं पास है। बीए फस्ट ईयर में उन्होंने दाखिला लिया है। स्पोर्ट कोटे से उन्हें चतुर्थ श्रेणी अर्थात चपरासी के पद पर नियुक्ति दी गई है।बहरहाल सरकार के इस फैसले के बाद प्रदेश के खिलाडियों के  मनोबल में गिरावट देखि जा सकती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *