June 7, 2020
Breaking News

ग्रीष्मवकाश में मध्याह्न भोजन, स्कूली बच्चों के घर तक पहुंचाएंगे दाल, चावल, बड़ी और अचार

रायपुर। कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने हर संभव प्रभावी कदम उठाए जा रहे हैं। कोरोना प्रभाव के कारण स्कूल भले ही संचालित नहीं हो पा रहे हैं पर बच्चों को मध्याह्न भोजन अनवरत मिलता रहेगा। पहली बार ग्रीष्मकालीन अवकाश में भी बच्चों को सूखा राशन दिया जाएगा। 45 दिन का राशन बच्चों के घर तक भेजा जाएगा। राज्य सरकार ने आगामी आदेश तक स्कूलों को बंद रखने के लिए आदेश दिया है। ऐसी स्थिति में बच्चों को गरम और पका हुआ भोजन नहीं दिया जा सकता है। सरकार ने राशि के बदले सूखा राशन में दाल, चावल, बड़ी और अचार देने का फैसला लिया है। यह बच्चों के घर तक पहुंचाया जाएगा या फिर स्कूल में फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए राशन बांटा जाएगा। बच्चों को 45 दिन का राशन एक साथ दिया जाएगा। इससे प्रदेश के 28 लाख बच्चों को फायदा मिलेगा।स्कूल शिक्षा विभाग के संचालक जितेंद्र शुक्ला ने बताया कि सूखा राशन निर्धारित मात्रा से कम न हो और इसकी गुणवत्ता बेहतर रहे इसके लिए सील बंद पैकेट दिया जाएगा। पैकिंग के पहले और पैकिंग के बाद फोटोग्राफ लिया जाएगा। इसके बाद ही संबंधित बच्चों के पालकों को दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *