November 29, 2021
Breaking News

गुजरात में नाराज पाटीदारों ने गांवों में BJP नेताओं के घुसने पर प्रतिबंध

नई दिल्ली.गुजरात चुनाव भाजपा -कांग्रेस दोनों के लिए महत्वपूर्ण हैं क्योंकि प्रधानमंत्री मोदी ने लोकसभा चुनाव प्रचार में सबसे ज्यादा गुजरात के विकास मॉडल को ही महिमा मंडित कर वाहवाही लूटा था.लेकिन पाटीदार अनामत आंदोलन में हार्दिक पटेल, ओबीसी आंदोलन में अल्पेश ठाकोर औऱ दलित-मुस्लिम आंदोलन के दौरान जिग्नेश मेवाणी ने मोदी जी के विकास के दावे की हवा निकाल कर रख दी.पाटीदार अनामत आन्दोलन में भाजपा सरकार द्वारा की गई ज्यादतियों को पाटीदार समाज भूल नही पा रहा है,यही कारण है कि भाजपा का परम्परागत वोट बैंक रहे पाटीदार समाज ने भाजपा और मोदी की नीद को उड़ा दिया है .गुजरात के पाटीदार समाज ने भाजपा सरकार के द्वारा हुई ज्यादतियों का विरोध करने का नायब तरीका अख्तियार कर लिया है ,समाज ने गावो के मुख्य प्रवेश द्वार पर भाजपा नेताओ व एजेंटो को गाव में दाखिल होने पर प्रतिबन्ध लगा दिया है .भाजपा में बड़ी संख्या में पाटीदार नेताओं के होने के बाद भी ग्रामीण स्तर पर तंगहाली में जी रहा पाटीदार प्रधानमंत्री मोदी के बहकावे में आकर भाजपा को वोट देने के लिए कतई अब तैयार नहीं है.पाटीदार अनामत आंदोलन के दौरान पुलिस की गोलियों और लाठियों के शिकार हुए पाटीदार युवाओं के परिजन अब अपने गांवों में भाजपा के किसी नेता को घुसने नहीं देना चाहते. इसलिए गुजरात के पाटीदार बाहुल्य कई गांवों में स्थानीय लोगों और ग्रामीणों ने भाजपा के लोगों को गांव के अंदर प्रवेश करने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *