July 13, 2020
Breaking News

Harit Chhattisgarh Exclusive:- ना शिकायत कर्ता थे मौजूद न ही हितग्राही ,जांच दल ने बना दिया पंचनामा .

*सारंगढ़*
*Harit Chhattisgarh Exclusive:- ना शिकायत कर्ता थे मौजूद न ही हितग्राही ,जांच दल ने बना दिया पंचनामा ..*

*शिकायत कर्ताओ ने लगाए ये आरोप…कैमरे के सामने मीडिया के सवालों पर जवाब देने से बचते रहे अधिकारी और कहा ये@Video*

गंजाईभौना केड़ार/ शिकायत जांच करने जांच दल जाती है लेकिन न तो शिकायत कर्ता को सूचना दी जाती है और न ही जनता जनार्दन की मौजूदगी में जांच की प्रक्रिया की जाती है यह हम नही कह रहे सारंगढ़ के ग्राम पंचायत गंजाईभौना की जनता का कहना है ।उनका कहना है कि एक महीने पूर्व उनके द्वारा शासकीय उचित मूल्य की दुकान में चावल वितरण में दो-दो-किलो तौल में कम आ रहा था जिसके जांच के लिए अधिकारी आये थे जिसकी सूचना उन्हें नही दिया गया और न ही जांच प्रक्रिया उनके समक्ष किया गया है यही नही जांच दल के अधिकारी गंजाईभौना पहुचे और सचिव के साथ मिलकर केराड़ पुलिस थाना परिषर आ गए और पंचनामा बनाकर हम पहुचे तो हमे पंचनामा में दस्तखत करने के लिए बोला जा रहा था चुकी हमारे समक्ष जांच नही की किया गया था जिसपर हमें दस्तखत करने से इनकार कर दिया ।ग्रामीण ने कहा कि इस कार्रवाई से हम संतुष्ट नही है जांच दल में आये अधिकारी सचिव को बचाने में लगे है और उल्टे हमे धमकाया जा रहा था और अधिकारियों की ओर से कहा जा रहा था कि हमारा और कुछ काम नही है क्या केवल तुम्हारे लिए ही आते रहेंगे ।

शिकायत कर्ता देवानंद चन्द्रा ने लगाया अधिकारियों पर ये आरोप….वीडियो

 

गांव के कोटवार ने कहा सचिव की गलती है..वीडियो

 

गंजाईभौना के कोटवार अघन सिंह ने भी सचिव और जांच दल के अधिकारियों पर आरोप लगाया कि शिकायत कर्ताओ से पंचनामा में दस्तख्त करने को कहा और जब शिकायत कर्ताओ ने इनकार कर दिया तो उन्हें गलत ठहराया जा रहा है जबकि गलती सचिव की है उसने पिछले 5 महीनों से हितग्राहियो को 2-2 किलो चावल कम दे रहा था ।

मीडिया के सवालों पर जवाब देने से बचते रहे नाप तौल के निरीक्षक ने कहा ये…वीडियो

 

शिकायत जांच करने पहुची नाप तौल विभाग की महिला निरीक्षक उनपर लगाए गए शिकायत कर्ताओ के द्वारा आरोप पर जब मीडिया कर्मियों ने उनसे सवाल करने लगे तो जवाब देने के बजाय अपनी कुर्सी छोड़कर अपने वाहन की ओर बढ़ गई उनके पीछे मीडिया कर्मी चलते चलते उनके द्वारा जांच उपरांत बनाये गए पंचनामे के सम्बन्ध में जानकारी लेने लगे तो बताई की उचित मूल्य दुकान में जिस इलेक्ट्रॉनिक तौल का उपयोग किया जा रहा था दो कांटो का परीक्षण किया गया जो सत्यापित नही था जिसके लिए सम्बन्धित से संचालक 10 पेनल्टी शुल्क लिए जाएंगे ।

सचिव संचालक ने माना हुई तो है गलती…पर कार्रवाई क्यों नही खाद्य विभाग और नाप तौल विभाग पर उठने लगे है सवालिया निशान …वीडियो

 

जब वीडियो में सचिव संचालक और पूर्व सरपंच इस बात मुहर लगा रहे है कि तौल के माध्यम से हितग्राहियो के राशन की चोरी हुई है बावजूद शिकायत जांच में न तो संचालक और न ही सचिव के विरुद्ध दोनों विभाग कोई कानूनी कार्रवाई कराने के बजाए सचिव को महज पेनल्टी पटाने की राशिद देने की बात की जा रही है वही पिछले 5 महीनों से हितग्राहियो के राशन की चोरी हो रही थी उसपर कोई कार्रवाई नही सम्बन्धित विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों पर सवालिया निशान उठना तो लाजमी है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *