September 24, 2021
Breaking News

आज पत्थलगांव अस्पताल में आयोजित निशुल्क मधुमेह व उच्च रक्तचाप हेतु शिविर ,सभी लाभ उठाये

आज पत्थलगांव अस्पताल में आयोजित निशुल्क मधुमेह व उच्च रक्तचाप हेतु शिविर ,सभी लाभ उठाये

हरित छत्तीसगढ़ विवेक तिवारी/संजय तिवारी पत्थलगांव/ पत्थलगांव सिविल अस्पताल में आज निशुल्क मधुमेह व उच्च रक्तचाप हेतु शिविर लगाया गया है शिविर में चिकत्सको द्वारा मधुमेह, उच्च रक्तचाप, खून जांच एवं स्त्री रोगों की जांच की जाएगी इस मौके पर पत्थलगांव मेडिकल ऑफिसर डा जेम्स मिंज ने बताया की इस प्रकार के शिविरों का सभी को लाभ उठाना चाहिए, क्योकि शिविर के माध्यम से विशेषज्ञ चिकित्सक से परामर्श एवं दवाईयां भी नि:शुल्क हो रही है/उन्होंने कहा की किसी को  भी स्वास्थ्य सम्बन्धी कोई  परेशानी हो तो शिविर के बाद भी सिविल अस्पताल में आकर जांच करा सकता है , जिसका निवारण तुरंत कर दिया जाएगा। शिविर में  कांउसलर द्वारा विशेस जांच की भी सुविधा है जिनके द्वारा मरीजोें की शुगर की जांच, पैरों की जांच, डाईट परामर्श के साथ-साथ निशुल्क परामर्श दिए जाने है । डा. मिंज ने बताया कि डायबिटीज को लेकर अभी और जागरुकता की जरुरत है क्योंकि डायबिटीज एक ऐसा रोग है, जो हर उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। इसलिए हम अपनी दैनिक दिनचर्या के साथ-साथ व्यायाम को भी निरंतर प्राथमिकता देना चाहिए। डा. मिंज ने कहा कि वर्ल्ड हैल्थ डे  की थीम मधुमेह को कंट्रोल करना है। संपूर्ण साउथ ईस्ट एशियन देशों में लगभग 9० मिलियन मधुमेह के रोगी है, ये तेजी से फैलती बीमारी निम्न एवं मध्यम वर्ग के लोगों में अधिक है। खान-पान पर नियंत्रण, नियमित व्यायाम तथा नियमित स्वास्थ्य जांच द्बारा इस रोग से बचा जा सकता है। उन्होंने बताया कि मधुमेह तीन प्रकार के होते है, उच्च रक्तचाप, कोलस्ट्राल संबंधी बीमारी होने पर मधुमेह का खतरा अधिक रहता है। उन्होंने बताया कि बहुत प्यास लगना, अत्याधिक भूख लगना, थकान महसूस होना, बार-बार पेशाब आना, वजन कम होना, दृष्टि में धुंधलापन, त्वचा में खुजली, अक्सर संक्रमण होना। पैरों-हाथो  में सुन्न होना अथवा झनझनाहट अक्सर लोगों में कोई लक्षण दिखाई नहीं देते, यदि उनका रक्त शर्करा स्तर अधिक होता है, आपकेा मधुमेह होने की जानकारी रक्त जांच से मिल सकती है। उन्होंने बताया कि मधुमेह को नियंत्रण करने के लिए स्वस्थ खाना, शारीरिक गतिविधियां, चिकित्सा डाक्टर के संपर्क में सुचारु, चिकित्सा से मधुमेह पर नियंत्रण पाया जा सकता है।उन्होंने कहा की स्वास्थ्य विभाग की प्राथमिकता दूरदराज के क्षेत्रों में रहने वाले वरिष्ठ नागरिकों जनसाधारण तक सरकार की ओर से दी जा रही स्वास्थ्य योजनाओं को पहुंचाना है और वह इसके लिए प्रतिबद्ध है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *