July 24, 2021
Breaking News

20 नवंबर की हड़ताल तय,,शिक्षाकर्मियों की सरकार के साथ पहले दौर की वार्ता विफल !… संविलियन व शासकीयकरण पर नहीं बन पायी बात

शिक्षाकर्मियों की सरकार के साथ पहले दौर की वार्ता विफल !… संविलियन व शासकीयकरण पर नहीं बन पायी बात.. 20 नवंबर की हड़ताल तय

*▪नये वेतनमान व भत्तों को लेकर सरकार है राजी*

*▪संविलियन की मांगें सरकार के पास भेजने की बात कही*

*▪शिक्षा सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव के अलावा पंचायत व वित्त के भी अधिकारी रहे मौजूद*

हरितछत्तीसगढ़ रायपुर 15 नवंबर 2017:-
✍शिक्षाकर्मियों की सरकार के साथ पहले दौर की वार्ता विफल हो गयी है। लिहाजा शिक्षाकर्मियों ने 20 नवंबर को होने वाली अनिश्चितकालीन हड़ताल को बरकरार रखने का ऐलान किया है ।  शिक्षा सचिव विकासशील….सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव के साथ-साथ पंचायत व वित्त विभाग के अधिकारियों के साथ करीब 4 घंटे की मैराथन बैठक के बाद शिक्षाकर्मियों की मांगों पर सहमति नहीं बन पायी।  इससे पहले पहले शाम चार बजे से मंत्रालय में शिक्षा विभाग के सचिव विकासशील के साथ हड़ताल को लेकर तैयार हुई छत्तीसगढ़ नगरीय निकाय संघर्ष मोर्चा के पदाधिकारियों की बैठक शुरू हुई। बैठक में शिक्षाकर्मी संगठन ने उन तमाम 9 मांगों पर चर्चा की.. जिसे लेकर शिक्षाकर्मी सालों से परेशान हैं । बैठक में छत्तीसगढ़ नगरीय निकाय मोर्चा के प्रांतीय संचालक वीरेंद्र दुबे, केदार जैन, संजय शर्मा, केदार जैन, विकास राजपूत,चंद्रदेव राय के अलावे अन्य 5 शिक्षाकर्मी प्रतिनिधि शामिल हुए। आज बैठक में बीएड में रियायत देने.. नये वेतनमान.. भत्ता जैसी मांगों पर सरकार सहमत तो थी.. लेकिन शिक्षाकर्मियों की मुख्य मांगें शासकीयकरण और संविलियन पर बात नहीं बन पायी। विकासशाली ने आश्वस्त किया कि इन तमाम मुद्दों पर राज्य सरकार से बात कर ही कोई निर्णय लिया जायेगा। लिहाजा शिक्षाकर्मियों ने 20 नवंबर की हड़ता को जारी रखने का ऐलान किया।

नगरीय निकाय मोर्चा के प्रांतीय संचालक वीरेंद्र दुबे ने कहा कि“पहले दौर की वार्ता के बाद बहुत सार्थक नतीजा नहीं है.. इस वजह से फिलहाल ह़ड़ताल का फैसला बरकरार है अभी 20 तारीख में वक्त है अगर सरकार की तरफ से बातचीत की और पहल की जाती है, तो निश्चित ही शिक्षाकर्मी अपनी बातों को रखेंगे..आज की बैठक में संविलियन की मुख्य मांगों पर सरकार की तरफ से सार्थक प्रस्ताव नहीं आयेहड़ताल से पहले आज शिक्षाकर्मियों को सरकार ने वार्ता के लिए बुलाया था. स्कूल शिक्षा सचिव के साथ मंत्रावय में 4 घंटे तक लगातार चर्चा हुई. लेकिन चर्चा पहले की तरह विपफ रही है. लिहाजा शिक्षाकर्मियों मंत्रालय में ही अपने आक्रोश को स्कूल शिक्षा सचिव विकासशील के सामने जाहिर कर दिया. शिक्षाकर्मियों ने शिक्षा सचिव को साफ कह दिया कि हड़ताल अब नहीं रुकने वाली है. 20 नवंबर से शिक्षाकर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा रहे हैं. हड़ताल की पूरी जिम्मेदारी सरकार की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *