November 29, 2021
Breaking News

सरकार पूरे सम्मान के साथ खरीदेगी किसानों का धान- बृजमोहन

सरकार पूरे सम्मान के साथ खरीदेगी किसानों का धान- बृजमोहन
कृषि एवं सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने आज अभनपुर में सरकार द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का शुभारंभ किया।
*● कृषि मंत्री ने कहा जहा पानी की उपलब्धता वहा का किसान ले रबी फसल। रोक की बातों को बताया भ्रामक प्रचार।*
रायपुर/15/11/2017/ प्रदेश के कृषि एवं सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने आज अभनपुर में सरकार द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का शुभारंभ किया। श्री अग्रवाल ने वृहत्त्कार कृषि साख सहकारी समिति,अभनपुर में धान बेंचने पहुंचे किसानों को फूलों का हार पहनाकर उनका अभिनंदन किया तथा उनके धान से भरी बोरी को तराजू पर रखकर तौलते हुए खरीदी प्रक्रिया की विधिवत शुरुआत की। इस अवसर पर अपैक्स बैंक के अध्यक्ष अशोक बजाज भी मौजूद रहे। यह आयोजन मंडी प्रांगण में संपन्न हुआ।
इस अवसर पर आयोजित समारोह में उपस्थित क्षेत्र के किसानों को संबोधित करते हुए बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि 70 लाख मेट्रिक टन धान छत्तीसगढ़ सरकार खरीद रही है । इस खरीदी व्यवस्था में प्रदेश की सहकारी सोसायटियों का अहम योगदान है। आप इधर धान बेचेंगे उधर आपके खाते में आपके पैसे पहुंच जाएंगे । ऐसी व्यवस्था हमारी भाजपा सरकार ने बनाई है। एक दौर था जब धान बेचने के बाद चेक लेकर किसान भटकते रहते थे। ऐसा भी वक्त था जब किसानों की धान को पानी में डूबा कर उसकी असलियत की पहचान की जाती थी। परंतु भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने किसानों का सदैव सम्मान किया है और पूरे सम्मान के साथ उनकी उपज को खरीद रही है।
बृजमोहन ने अपने संबोधन में बताया कि हाल ही में छत्तीसगढ़ प्रवास पर आए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सार्वजनिक मंच से छत्तीसगढ़ के धान खरीदी व्यवस्था की प्रशंसा की और यहां से सीखने की बात उन्होंने स्वीकार की। छत्तीसगढ़ से प्रेरणा लेकर उत्तर प्रदेश अपने राज्य के किसानों से 37 लाख टन गेहूं खरीदने जा रहा है। बृजमोहन ने तंज कसते हुए कहा कि जिन्होंने कभी किसानों को बोनस नहीं दिया वो आज बोनस पर किस अधिकार से बात करते हैं यह समझ से परे है । उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ही गांव,गरीब और किसानों की चिंता करती रही है। 1990 में सुंदरलाल पटवा जी ने ही पहली बार राज्य के किसानों का कर्ज माफ किया था। आजादी के बाद से लेकर राज्य निर्माण तक मात्र 70 हज़ार पंप कनेक्शन किसानों के पास थे । जो बढ़कर आज 4 लाख 50 हज़ार हो गए हैं । हमारा जल संसाधन विभाग लक्ष्य भागीरथी अभियान चला रहा है। जिसके तहत हर साल 1 लाख हेक्टेयर भूमि को सिंचित करने का लक्ष्य हमने रखा है।
किसानों से आग्रह करते हुए उन्होंने कहा कि अब एक फसल से काम नहीं चलेगा। आपको दलहन, तिलहन,फल, फूल, सब्जी, की खेती के साथ-साथ गौ पालन, मुर्गी पालन, मछली पालन की ओर भी ध्यान देना होगा। तभी आप अपना भविष्य खुशहाल बना सकेंगे। आप अन्नदाताओं के आशीर्वाद से बनी प्रदेश की सरकार विभिन्न योजनाओं के साथ आपको सहयोग करने खड़ी हुई है। आपको भी हिम्मत के साथ कदम आगे बढ़ाना होगा। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य हम सभी को दिया है । इसके लिए पूरी शिद्दत के साथ हमारी सरकार काम कर रही है। आपके खेतों की मिट्टी के परीक्षण कर उस पर तत्वों की कमी या अधिकता का पता लगा कर आप को जानकारी दी जा रही है । साथ ही आप कृषकों को यह भी बताया जा रहा है कि आपके खेत पर कौन सी फसल अच्छी होगी। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के माध्यम से आपकी भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए एक मजबूत प्रयास सरकार कर रही हैं। उन्होंने कहा कि रासायनिक खाद और दवाइयों के प्रयोग से भूमि कठोर वह बंजर हो रही है। ऐसे में जैविक खेती जो हमारी कभी परंपरा रही है वह आज समय की मांग है। उसे पुनः अपनाकर बढ़ने की आवश्यकता है। इस हेतु गोपालन सहायक हो सकता है। हमारी सरकार डेयरी उद्यमिता योजना के माध्यम से 12लाख रुपये तक लोन 50 फ़ीसदी सब्सिडी में पशुपालक किसानों को उपलब्ध करा रही है। दुग्ध उत्पादन के साथ साथ गोबर -गौमूत्र से जैविक खेती आसानी से की जा सकती है।किसानों को कृषि उपकरण ड्रिप स्प्रिंकलर आदि 50 फ़ीसदी से ज्यादा सब्सिडी में प्रदान किए जा रहे है। शून्य प्रतिशत ब्याज पर किसानों को ऋण यहा दिया जा रहा है। हमारा एक ही मकसद है खेती में किसानों को लागत मूल्य कम हो और यह धान का कटोरा हमेशा भरा रहे ताकि किसानो की जीवन में सदैव सुख शांति और समृद्धि का वास हो सके। इस दौरान कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने चंडी सोसाइटी में फड़ निर्माण के लिए 20 लाख रुपए प्रदान करने के घोषणा की।
अपेक्स बैंक के अध्यक्ष अशोक बजाज ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश भर उनके 1989 उपार्जन केंद्रों में धान खरीदी कि आज शुरुआत हो रही है यह हमारे लिए एक जिम्मेदारी का काम है। सहकारिता से जुड़े निर्वाचित सभी पदाधिकारियों के लिए यह गर्व की बात है कि सरकार ने जिम्मेदारी के साथ समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का काम सौंपा है । यह सहकारिता पर सरकार का भरोसा ही है। पीडीएस सिस्टम हो या उज्ज्वला योजना सरकार प्राथमिकता के आधार पर सहकारी सोसायटियों को जिम्मेदारी वाला काम सौपी रही है। यह अच्छी बात है कि हर भरोसे पर सहकारी संस्थाये खरी उतर रही है।
श्री बजाज ने बताया कि किसानों को माइक्रो एटीएम प्रदान किए जायेंगे। किसान अपनी सोसाइटी से ही 5 हज़ार तक की राशि का आहरण उसके माध्यम से कर सकते हैं।उन्हें बैंक ब्रांच जाने की आवश्यकता नही रहेगी। यह हर्ष का विषय है कि छत्तीसगढ़ का किसान हाईटेक हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के डिजिटल इंडिया अभियान में हमारे किसानों का योगदान भी सुनिश्चित हो रहा है।
इस अवसर पर भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश महामंत्री संजू नारायण सिंह किसान मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष युधिष्ठर चंद्राकार, मंत्री गौरीशंकर श्रीवास, अभनपुर सोसायटी अध्यक्ष प्रदीप शर्मा, ह्रदय राम साहू,कुंदन बघेल,कोमल,किसान शर्मा,कमलेश शर्मा, कैलाश शर्मा,संजीत तिवारी आदि उपस्थित थे।
● रबी फसल ले सकते है किसान●
इस दौरान प्रेस से चर्चा करते हुए कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि जहा पानी की उपलब्धता है वहां का किसान रबी फसल ले सकता है । रबी फसल लेने पर किसी तरह की रोक सरकार ने नहीं लगाई है । किसान रबी फसल के रूप में अपनी इच्छानुसार दलहन-तिलहन की खेती करे। वे किसी भी भ्रामक प्रचारों में न आये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *