September 17, 2021
Breaking News

जशपुर राजघराने से मिल सकता है टी एस सिहदेव को चुनोती

भाजपा कर रही टी एस सिंहदेव के खिलाफ चुनाव में जशपुर राजघराने को लेकर विचार 

नीरज गुप्ता हरित छत्तीसगढ़ रायपुर //  दिनोदिन सरगुजा के साथ साथ पुरे छत्तीसगढ़ में अपना प्रभाव बना रहे नेता प्रतिपक्ष टी एस सिंहदेव को घेरने के लिए भाजपा ने अभी से मंथन शुरू कर दिया है भाजपा खासकर टी एस सिहदेव का गढ़ बनते जा रहे सरगुजा क्षेत्र को लेकर चिंतित नजर आ रही है  अम्बिकापुर विधानसभा से चुनाव लड़ने वाले टी एस सिंहदेव का वर्चस्व  पुरे प्रदेश में फैलता जा रहा है  वही सरगुजा क्षेत्र के आठो विधानसभा क्षेत्र में उनका प्रभुत्व का ही नतीजा है की बीते विधानसभा चुनाव में क्षेत्र की आठ विधानसभा में सात विधानसभा में कांग्रेस ने जीत हाशिल कर ली थी , विदित हो कि छत्तीसगढ़ में हैट्रिक लगा चुकी भाजपा सरकार चौथी बार भी जीतने के लिए तैयारी में जुट गई है। चौथी बार भी सत्ता में बने रहने के लिए छत्तीसगढ़ के उत्तरी इलाकों में जीत का परचम लहराना बहुत जरुरी है साल 2013 के चुनाव में भाजपा ने सरगुजा संभाग के आठ विधानसभा सीटों में से सिर्फ एक सीट पर जीत हासिल की थी। ऐसे में सरगुजा, अंबिकापुर बेल्ट में जीत का बहुमत भाजपा के लिए जरुरी है। यही वजह है कि आने वाले चुनाव में टी एस सिंहदेव को अंबिकापुर विधानसभा तक ही सिमित रखने के लिए किसी दमदार प्रत्याशी को उनके सामने उम्मीदवार बनाकर उन्हें उनके ही विधानसभा तक सिम्टाने और उलझाने के लिए भाजपा उच्च शीर्ष ने जशपुर राज घराने में से किसी को अंबिकापुर विधानसभा से चुनाव लड़ाने का उपाय सुझाया है / जशपुर राजघराने की शुरू से यही नियति रही है की जब जब पार्टी को उनकी जरूरत पड़ी है बगैर हिचक मैदान में दंभ भरने पहुचकर पूरी सिद्धत के साथ पार्ट्री के हित में काम करते नजर आते है सर्व विदित है की जशपुर राजपरिवार ने पहले जनसंघ और फिर भाजपा के लिए अपना सबकुछ दांव पर लगा दिया है संघर्षशील जनसंघ से लेकर भाजपा के राजशाही युग तक जूदेव की तीसरी पीढ़ी पार्टी की सेवा में वफादारी के साथ जुटी हुयी  है। हर बार पार्टी के विश्वाश पर खरा उतरने वाली जशपुर राजघराना पर इस बार तेजी  से बदलते सियासी माहौल में सरगुजा  राजपरिवार  के टी एस सिंहदेव के बढ़ते वर्चस्व पर अंकुश लगाने अंबिकापुर विधानसभा चुनाव क्षेत्र तक ही सिंहदेव को उलझाये रखने के लिए पार्टी अगर जशपुर राजघराने से किसी को अंबिकापुर विधानसभा चुनाव में उतार  दे तो कोई बड़ी बात नही होगी इस तरह की बात सामने आने पर बकायदा पार्टी शीर्ष में अब मथन भी  शुरू हो गया है।  अगर सबकुछ इसी तरह चलता रहे तो बड़ी बात नही होगी की  इस बार सिंहदेव को हर लिहाज से  टक्कर देने जशपुर राजघराने को इस मुकाबले के लिए तैयार किया जा सके हर बार जशपुर राजघराना पार्टी के विश्वास पर खरा उतर चुका है। पूर्व में बिलासपुर लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. रेणु जोगी को हराने वाले जशपुर राजघराने के दिलीप सिंह जूदेव के बाद अब पार्टी  अंबिकापुर में भी टी एस सिहदेव को मात देने की जुगत में है । क्योंकि अंबिकापुर विधानसभा सिट अब सिंहदेव के लिए एक गढ़ के रूप में बनती नजर आ रही है इसे में  अंबिकापुर सीट जीत के लिए  जशपुर राजघराने के किसी सदस्य को उतारा गया तो सिंहदेव अपने क्षेत्र में ही फंस कर रह जाएंगे। यहाँ हार जीतचाहे जो भी हो यह टी है की इस निर्णय के बाद सिह देव को एकमात्र विधानसभा में ही उलझाने तक सिमित कर सरगुजा क्षेत्र के अन्य सीटो समेत प्रदेश भर में सिहदेव को प्रचार करने से रोक सकते है बहरहाल जशपुर राजघराने युद्धविर सिंह जूदेव पार्टी का झंडा बुलंद किये हुए है एसे में वर्तमान दौर में पार्टी के लिय जी जान से काम कर रहे राज्यसभा सांसद रणविजय सिंह जूदेव व प्रबल प्रताप सिह जूदेव की और पार्टी विशेष की नजर उठ गयी है अगर आगामी चुनाव में अंबिकापुर विधानसभा क्षेत्र से इन दोनों नेताओ में से किसी  एक को टी एस सिहदेव के खिलाफ चुनाव लड़ते देखा जय तो कोई बड़ी बात नही होगी

2 thoughts on “जशपुर राजघराने से मिल सकता है टी एस सिहदेव को चुनोती

  1. जय जूदेव

    छत्तीसगढ़ का शेर जशपुर राजघराना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *