July 25, 2021
Breaking News

चर्चा विफल के बाद प्रदेश सहित जशपुर जिले भर के शिक्षाकर्मी बेमुद्दत हड़ताल पर

मुख्यमंत्री से चर्चा विफल होने के बाद प्रदेश सहित जिले भर के शिक्षाकर्मी गए बेमुद्दत हड़ताल पर

जशपुर:-✍ शिक्षाकर्मियों की रविवार रात मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के साथ चर्चा के बाद भी संविलियन और शासकीय करण पर बात नहीं बनी वित्तीय मामलों के निराकरण के लिए मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी मनाने का आश्वासन दिया किंतु संविलियन पर कोई जवाब नहीं मिला। आखिरकार शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा ने सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल की घोषणा की और जिसकी वजह से आज पूरे प्रदेश के 1 लाख 80 हजार शिक्षाकर्मी अपने अपने स्कूलों का ताला बंदी कर दिए हैं । 

      शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के प्रतिनिधिमंडल की रविवार की रात मुख्यमंत्री निवास में मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह के साथ लगभग डेढ़ घंटे तक चर्चा हुई। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री के समक्ष विस्तार से संविलियन, शासकीयकरण समेत शिक्षाकर्मियों की अन्य मांगे रखी । शिक्षाकर्मियों को सातवां वेतनमान देने पर विचार करने का आश्वासन दिया गया साथ ही कहा कि वित्तीय मांगों के संबंध में मुख्य सचिव विवेक ढांड की अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया जाएगा । यह कमेटी 3 माह के भीतर सरकार को रिपोर्ट देगी। किंतु मोर्चा के प्रतिनिधि जब संविलियन शासकीयकरण की बात रखी तो कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला।   मोर्चा के संचालक संजय शर्मा,वीरेंद्र दुबे,केदार जैन ने संयुक्त रुप से बताया कि मुख्यमंत्री के साथ वार्ता विफल रही। शिक्षाकर्मियों की मांगों के संबंध में अब तक 22 कमेटियां बनी लेकिन किसी भी कमेटी ने शिक्षाकर्मियों के हित पर निर्णय नहीं लिया ।उन्होंने कहा कि समस्त शिक्षाकर्मी मोर्चा के बैनर पर इसी वजह से पूरे प्रदेश भर के शिक्षाकर्मी पूर्ण तालाबंदी कर हड़ताल पर उतर आए हैं। और शासन जब तक हमारी मांगों पर कोई ठोस निर्णय नहीं लेती तब तक हम अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रखेंगे ।आपको बता दें कि रविवार शाम 4:00 बजे न्यू सर्किट हाउस में मोर्चा के संचालकों पदाधिकारियों की पंचायत विभाग के अपर मुख्य सचिव एमके राउत और शिक्षा विभाग के मुख्य सचिव विकासशील किए के साथ 9 सूत्रीय मांगों पर चर्चा हुई शिक्षाकर्मी संविलियन और शासकीय करण के मुद्दे पर अड़े रहे उच्च अधिकारियों ने इसे शासन का फैसला बताते हुए मुख्यमंत्री से चर्चा कराई पर वार्ता विफल रहा। प्रांतीय निर्णय के अनुसार प्रांतीय सहसंचालक श्री लीलाधर बंजारा एवं अर्जुन रत्नाकर तथा जिला संचालक श्री अनिल श्रीवास्तव, संतोष टांडे एवं विनय सिंह के नेतृत्व में जशपुर जिले के 2264 शालाओं में कार्यरत सभी शिक्षाकर्मी शाला बंद कर हड़ताल में शामिल हो गए हैं। जिला संचालक श्री अनिल श्रीवास्तव, संतोष टांडे व विनय सिंह ने जिले के सभी शिक्षाकर्मियों से अपील की है कि शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के प्रांतीय संचालक मंडल द्वारा लिए गए निर्णय के अनुसार हमारी मांगे जब तक पूरी नहीं हो जाती तब तक जिले भर के शिक्षाकर्मी अनिश्चित हड़ताल पर डटे रहेंगे। इस अनिश्चितकालीन आंदोलन को सफल बनाने के लिए सभी ब्लॉकों में ब्लॉक संचालकों के साथ जिले के पदाधिकारियों की टीम बनाकर सभी को जिम्मेदारी दे दी गई है।इस बेमियादी हड़ताल जिले के सभी 8 ब्लॉक मुख्यालयों के सभी शिक्षाकर्मी आंदोलन में शामिल हो रहे हैं जिससे जिले के प्राइमरी स्कूल, मिडिल स्कूल, हाई स्कूल एवं हायर सेकंडरी स्कूलों में अध्यापन ठप हो गया है। प्रदेश सहित जिले भर के सभी शिक्षाकर्मियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल की बिगुल फूंक दी है वही आज जिले भर के स्कूलों में सन्नाटा पसरा हुआ था इस अनिश्चितकालीन हड़ताल से जिले के लाखों बच्चों का पढ़ाई प्रभावित होगा जिसे लेकर बच्चों के अभिभावकों में भी चिंता की लकीरें खींच गई है।उपरोक्त जानकारी जिला मिडिया प्रभारी मो अफरोज खान, सैयद सरवर हुसैन व मोहम्मद शकील खान ने संयुक्त रुप से दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *