December 4, 2021
Breaking News

आर. ई. एस. के एस. डी. ओ. के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित

“आर. ई. एस. के एस. डी. ओ. के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित”

हरितछत्तीसगढ़ सक्ती (बसन्त चन्द्रा ) – आज तक जनप्रतिनिधियों के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव एवं निंदा प्रस्ताव होते देखा एवं सुना जाता है। किंतु जनपद पंचायत शक्ति के जनपद पंचायत के सदस्यों के द्वारा ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के अनुविभागीय अधिकारी के संबंध में निंदा प्रस्ताव पारित किए जाना बहुत ही हास्यास्पद है ।

विदित हो कि जनपद पंचायत सक्ति के अंतर्गत ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग के अनुविभागीय अधिकारी श्री एम एल साहू के क्रिया कलापों से क्षुब्ध होकर जनपद पंचायत सक्ति के जनपद अध्यक्ष एवं सदस्यों ने एक स्वर में उनके कार्य प् प्रणाली से आक्रो शित होकर निंदा प्रस्ताव लाया है।

 जो कि किसी अधिकारी के लिए बहुत ही अपमानजनक स्थिति है। सर्व विदित है कि जनपद पंचायत सक्ती के अन्तर्गत सभी ग्राम पंचायतों के शासकीय निर्माण कार्यों की जवाबदारी अनुविभागीय अधिकारी लोक निर्माण विभाग के जिम्मे होता है। साथ ही साथ अधिकारी को निर्माण कार्य संबंधी गुणवत्ता एवं निर्माण कार्य के पूर्ण होते तक समस्त जवाबदारी का निर्वहन करना होता है।  उपरोक्त अधिकारी के द्वारा जिसके गुणवत्ता की मोहर लगने के पश्चात शासकीय रिकार्ड में उसे पास किया जाता है। अगर अधिकारी ही अपने कर्तव्यों के प्रति उदासीन रहे तो निर्माण कार्य का क्या होगा? कुछ इस प्रकार की झलक शक्ति विकासखंड के अनुविभागीय अधिकारी r e s के द्वारा देखा गया है।इतने बड़े निर्माण कार्य को विभाग के प्रभारी अधिकारी के भरोसे चलाया जाने से संबंधित अधिकारी का मनोबल सातवें आसमान पर है। तथा वो बढे हुए मनोबल के कारण किसी की सलाह या समझाइश को बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं।  यहां कार्यरत प्रभारी अधिकारी साहू का जनपद अध्यक्ष एवं सदस्यों के सलाह मशवरा को नहीं मानने एवं मनमाना रवैया जनपद सदस्यों को रास नहीं आया। अध्यक्ष एवं सदस्यों की सलाह मशवरा को भी नजर अंदाज करना निंदा प्रस्ताव का सबब बना।

 अगर वस्तुस्थिति पर गौर किया जाए तो अध्यक्ष एवं सदस्यगण इनके ऊपर कार्य के प्रति उदासीन होने संबंधी निंदा प्रस्ताव लाने के लिए मजबूर हुए। उनका बढ़ा हुआ मनोबल के कारण जनपद के कार्यो की ओर सही ढंग से ध्यान नही दिया जाता । जनपद की ओर से बार बार आगाह किये जाने के बावजूद सही तरीके से काम नहीं किया जाना एवंहमेशा मनमाना रुख अपनाते हुए कार्य करना, जनपद अध्यक्ष एवं सदस्यों को निंदा प्रस्ताव लाने के लिए मजबूर किया।उनके मनमानी से परेसान होकर सभी जनपद सदस्यो ने एक मत से दिनांक 17/11/17 को उक्त अधिकारी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पास किया । 

 “शमशान घाट में भी भ्रष्टाचार”:-

 ग्राम पंचायत नदौर कला के श्मशान घाट में प्रतीक्षालय हेतू  4,79,000 रुपए स्वीकृत हुआ है।

 जहां निर्माण कार्य जारी है।  किंतु s d o महोदय द्वारा श्मशान घाट में भी भ्रष्टाचार करने से गुरेज नहीं किया। कहा जाता है कि श्मशान घाट में किसी प्रकार का भ्रष्टाचार नहीं होता।किंतु ग्राम पंचायत नंदौर के श्मशान घाट के प्रतीक्षालय में भ्रष्टाचार होना पूरी  कहावत को उलट कर रख देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *