September 24, 2021
Breaking News

समूह के खिलाफ नहीं हो रही कार्यवाही,मुख्यमंत्री को दी शिकायत

समूह के खिलाफ नहीं हो रही कार्यवाही,मुख्यमंत्री को दी शिकायत

हरित छत्तीसगढ़ पप्पू जायसवाल सूरजपुर

शासन की इस महत्वाकांक्षी योजना से गरीब आदिवासी पंडो और कोरवा जनजाति के लोग वंचित प्रतापपुर के दवनकरा सेक्टर में रेडी टू ईट का वितरण करती है समूह, कई बार हुई जांच में प्रमाणित हो चुकी है शिकायत प्रतापपुर रेडी टू ईट और चना मुर्रा वितरण में व्यापक धांधली के बावजूद समूह के खिलाफ जिला प्रशासन द्वारा कार्यवाही न करने की शिकायत रायपुर में मुख्यमंत्री से की गई है,आरोप इंदिरा गांधी स्व सहायता समूह के ऊपर हैं जो प्रतापपुर विकासखण्ड के दवनकरा सेक्टर में सप्लाई करती है,समूह द्वारा वितरण में कई जा रही धांधली की शिकायतों के बाद कई बार जांच में आरोप प्रमाणित भी हो चुके हैं। शिकायत कर्ता चन्द्रिका कुशवाहा पोड़ी मोड़ ने शिकायत में बताया कि उक्त समूह पिछले कई वर्षों से रेडी टू ईट और चना मुर्रा का वितरण आँगनाबाड़ी केंद्रों में कर रही है किंतु समूह के सदस्यों द्वारा वितरण में जमकर भ्रष्टाचार कीया जा रहा है,उनके द्वारा पूरे महीने वितरण न कर महीने या एक पखवाड़े में एक बार ही सामग्री दी जाती है। समूह द्वारा की जा रही भर्राशाही की जानकारी महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों को भी है किंतु उनके द्वारा कार्यवाही की बजाय कमीशन के लिए समूह को पराश्रय दिया जाता है,जिसके बाद क्षेत्र के जनप्रतिधि व ग्रामीणों ने इसकी शिकायत कलेक्टर सूरजपुर से की थी,जिस पर कलेक्टर के निर्देश के बाद एसडीएम प्रतापपुर ने पूरे मामले की जांच की और आरोप सही पाया तथा नियमानुसार प्रतिवेदन बना कलेक्टर के साथ जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग सूरजपुर को कार्यवाही हेतु भेजा लेकिन कार्यवाही नहीं की। इसके बाद भी दो बार फिर से ग्रामीणों ने कलेक्टर के समक्ष शिकायत करते हुए कार्यवाही की मांग की,कलेक्टर के निर्देश पर फिर से जांच हुई और हर बार शिकायत सही पाई गई जिनके प्रतिवेदन कलेक्टर के साथ सम्बन्धित विभाग को भेजा गया लेकिन कार्यवाही फिर भी नहीं हुई। शिकायत में बताया गया है कि समूह द्वारा दवानकरा के 42 और पोड़ी सेक्टर के 37 आँगनाबाड़ी केंद्रों में सामग्री सप्लाई की जाती है जहां गरीब आदिवासी,पंडो और कोरवा जनजाति के लोग निवास करते हैं। सबसे बड़ी बात है कि कलेक्टर जनदर्शन सुरजपुर की वेबसाइट में समूह के खिकाफ शिकायत निराकृत बता दी गयी है जबकि कार्यवाही आज तक नहीं हुई है,आरोप लगाते हुए शिकायत कर्ता ने बताया कि समूह द्वारा भ्रष्टाचार और ग्रामीणों की भावनाओं के विपरीत कलेक्टर और विभाग द्वारा कार्यवाही नहीं करना समझ से परे है तथा उनकी भूमिका पर भी सवाल खड़ा करता है। शिकायत के साथ समस्त दस्तावेज प्रस्तुत करते हुए दोषियों के खिलाफ उचित कार्यवाही की मांग की गई है,सीएम जनदर्शन के दौरान शिकायत कर्ता ने विभाग की मंत्री और सचिव से भी मुलाकात कर शिकायत की कॉपी दी है। दिव्यांग संघ के प्रदेशाध्यक्ष ने भी की शिकायत सीएम जनदर्शन रायपुर में सीएम से मुलाकात कर दिव्यांग संघ के प्रदेशाध्यक्ष सुमन्त प्रजापति ने प्रतापपुर में आयोजित दिवांगजन शिविर में अव्यवस्था के मामले में जनपद सीईओ राजेश सिंह सेंगर के खिलाफ कार्यवाही की मांग की। शिकायत में उन्होंने बताया कि इस शिविर में काफी अव्यवस्था थी जिस कारण दिव्यांगजनों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा,जिस उद्देश्य से शिविर का आयोजन किया गया था उसकी पूर्ति नहीं हुई,बारिश में भींगने के साथ उन्हें भूखे प्यासे तथा बिना पंजीयन के ही वापस जाना पड़ा जिसके लिए पूर्णतः उसके आयोजक और वहां उपस्थित अधिकारी जिम्मेदार हैं। उन्होंने बताया कि इसकी शिकायतें जिला प्रशासन के समक्ष कई बार हो चुकी है लेकिन कलेक्टर सूरजपुर द्वारा मामले में आज तक न जांच कराई गई है और नहीं किसी प्रकार की कार्यवाही की है जो उचित नहीं है। जानकारी देते हुए सुमन्त प्रजापति ने बताया कि शिकायत के बाद सीएम ने कमिश्नर सरगुजा संभाग को जांच हेतु निर्देशित किया है। उन्होंने इस दौरान सीएम से दिव्यांगजनों को दिए जाने वाले पेंशन और सामाजिक सुरक्षा पेंशन के लिए नियमों में ढील देने और संशोधन की मांग की है जिसमें बीपीएल की अनिवार्यता समाप्त करने के साथ अस्सी प्रतिशत विकलांगता की सीमा को हटा चालीस प्रतिशत करना शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *