September 24, 2021
Breaking News

शिक्षाकर्मियों की हड़ताल का असर कम करने सरकार ने उठाए कदम

शिक्षाकर्मियों की हड़ताल का असर कम करने सरकार ने उठाए कदम

हरितछत्तीसगढ़ रायपुर। राज्य के एक लाख 80 हजार शिक्षाकर्मियों के हड़ताल पर चले जाने से स्कूलों में पढ़ाई के साथ साथ कई शासकीय कार्य भी प्रभावित होने शुरू हो गए है सबसे महत्वपूर्ण कार्य मतदाता सूची पुनरीक्षण का कार्य प्रभावित होने के आसार बढ़ गए है क्योंकि मतदाता सूची पुनरीक्षण के काम मे प्रदेश भर के करीब 25 हजार शिक्षा कर्मियों को  लगाया गया है। इस शिक्षाकर्मियों के हड़ताल पे चले जाने के कारण स्कूल शिक्षा के साथ साथ मतदाता सूची पुनरीक्षण का काम भी प्रभावित होने की आशंका बढ़ गई है ।इसे देखते हुए सरकार के दोनों विभागों ने भी अपने स्तर पर तैयारी कर ली है। इससे साफ है कि सरकार हड़ताली शिक्षाकर्मियों के दबाव में नहीं आना चाह रही है और उनके हड़ताल को बेअसर करने की रणनीति पर काम कर रही है।

हड़ताल के कारण शिक्षा व्यवस्था प्रभावित न हो इसके लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने दूसरे विभाग में पदस्थ शिक्षकों को तत्काल बुलाने का निर्देश दिया है।विभागीय सचिव ने वैकल्पिक व्यवस्था के तहत सेवानिवृत्त शिक्षक समेत अन्य लोगों की मदद लेने की भी सलाह दी है। कलेक्टर और जिला शिक्षा अधिकारियों को भेजे पत्र में सचिव ने किसी भी स्थिति में पढ़ाई प्रभावित नहीं होने देने का निर्देश दिया है।

मतदाता सूची का काम निगम के जिम्मे सौपे जाने की तैयारी की गई

राज्य में इस वक्त मतदाता सूची पुनरीक्षण का काम भी चल रहा है। करीब 25 हजार शिक्षा कर्मियों को इस काम में लगाया गया है। सोमवार से ये शिक्षाकर्मी भी हड़ताल पर चले गए हैं। इससे पुनरीक्षण का काम भी प्रभावित हो सकता है। इसे देखते हुए नगरीय प्रशासन विकास विभाग ने सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारियों और निगम आयुक्तों को इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था करने का निर्देश दिया है।इसे देखते हुए नगरीय प्रशासन विकास विभाग ने सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारियों और निगम आयुक्तों को इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था करने का निर्देश दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *