August 3, 2021
Breaking News

प्रदेश में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं जरूरत है उन्हें तराशने की: स्कूल शिक्षा मंत्री

प्रदेश में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं जरूरत है उन्हें तराशने की: स्कूल शिक्षा मंत्री

खिलाड़ियों को खेल जौहरियों का इंतजार: श्री कश्यप

हरितछत्तीसगढ़ नारायणपुर 23 नवम्बर 2017 – स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप ने कहा कि   छत्तीसगढ़ राज्य में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं जरूरत है तो उन्हें तराशने की। उन्होंने कहा कि  राज्य के अन्य जिलों की तरह नारायणपुर जिले की धरती के बच्चों में कुछ कर दिखाने की क्षमता है। बस्तर संभाग के बच्चों में खेल प्रतिभा कूट-कूूट कर भरी हुई है, उन्हें इंतजार है तो खेल के अच्छे जौहरियों का जो उन्हें तराशकर, चमकाकर खेल जगत में एक अच्छे मुकाम की ओर ले जाये। श्री कश्यप ने कहा कि अब हो दिन आ गया है। इस दौड़ से चयनित होकर बच्चे खेल के मैदान में नया मुकाम हासिल करेंगे और जिले के साथ ही राज्य का नाम रोशन करेंगे। उन्होंने कहा कि विभाग की ओर से चयनित बच्चों को खेलकिट प्रदान की जायेगी। स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप जिला मुख्यालय नारायणपुर में इंडिया खिलाड़ियों की खोज कार्यक्रम में मुख्य अतिथि तौर पर शामिल हुए। इस दौड़ में जिले के सैकड़ों स्कूली बच्चों ने भाग लिया।

स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप ने इस बात पर खुशी जताई कि इस दौड़ के लिए नारायणपुर जिले का चयन किया गया है। इंडिया स्पीड स्टार (दौड़ प्रतिस्पर्धा) में चयनित बच्चे राजधानी रायपुर में आयोजित दौड़ में शामिल होंगे। फिर वहां से चयनित होकर देश की राजधानी दिल्ली में आयोजित दौड़ (प्रतिस्पर्धा) में भाग लेंगे। उन्होंने उम्मीद जताई कि दौड़ हेतु निर्धारित आयु वर्ग के बच्चे अपने खेल प्रतिभा और मेहनत के बल पर आगे बढ़ेंगे। श्री कश्यप ने बच्चों को शुभकामनाएं देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। श्री कश्यप ने आयोेजन समिति के प्रति आभार प्रकट किया। श्री कश्यप ने रामकृष्ण मिशन परिसर में  बनाये गये ‘फन क्लास’ में जाकर छोटे बच्चों से भी मुलाकात की। इसके साथ ही स्वामी निवास भी गये। वहां मिशन के स्वामियों से चर्चा की। 

रामकृष्ण मिशन के सचिव स्वामी व्याप्तानंद ने अपने उद्बोधन में कहा कि खेल में असीम संभावनाएं है। जिले के बच्चों में विशेष और कठिन परिस्थितियों में अपने आप को ढालने की इच्छा शक्ति है। उन्होंने बच्चों से कहा कि दौड़ में भाग लेना भी  खेल भावना का परिचय है। 

अधिकारियों ने बताया कि यह दौड़ देश के 115 जिलोें में हो रही है। छत्तीसगढ़ के 5 जिलों में दौड़ का आयोजन किया गया है। उन्होंने बताया कि दौड़ तीन चरणों में हो रही है। पहला चरण में जिला स्तर से बच्चों का चयन किया जायेगा। द्वितीय चरण में चयनित बच्चे छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भाग लेंगे। राजधानी से चयनित होकर बच्चे देश की राजधानी दिल्ली में आयोजित दौड़ में शामिल होंगे। अधिकारियों ने बताया कि बच्चों का चयन दौड़ की टाईमिंग को देखते हुए किया जायेगा।

मंत्री श्री केदार कश्यप ने सवेरे 9 बजे इंडिया खिलाड़ियों की खोज कार्यक्रम के तहत बच्चों की दौड़ का झण्डी दिखाकर शुभारंभ किया। उक्त दौड़ का आयोजन भारत सरकार के पेट्रोलियम मंत्रालय और नेषनल युवा कापरेटिव के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित था। इस दौड़ का मुख्य उद्देष्य चयनित बच्चों को 2020 एवं 2024 में आयोजित ओलपिंक खेल के लिए तैयार करना है। दौड़ में 11-14 और 15-17 आयु वर्ग के बच्चों के लिए थी। कार्यक्रम की अध्यक्षता रामकृष्ण मिशन के सचिव स्वामी व्याप्तानंद ने की। कार्यक्रम में खेल इंडिया श्री अंकित धीमन, एथलेक्टिक्स कोच श्री सुदर्शन सिंह, जनपद पंचायत नारायणपुर के अध्यक्ष श्री राममन कोर्राम, खेल विभाग फारूकी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *