September 17, 2021
Breaking News

कैबिनेट में  शिक्षा एवं शिक्षाकर्मी के स्थान पर जश्न का एजेंडा पर चर्चा शर्मनाक : सुब्रत डे

कैबिनेट में  शिक्षा एवं शिक्षाकर्मी के स्थान पर 12 दिसंबर को जश्न का एजेंडा पर चर्चा शर्मनाक : सुब्रत डे

 

हरितछत्तीसगढ़ रायपुर दिनांक 23/11/2017 | प्रदेश सरकार के कैबिनेट की बैठक में शिक्षाकर्मी संघ व रसोईया संघ की मांगों को एजेंडा में शामिल न कर डॉ रमन सिंह  की सरकार 12 दिसंबर को 14 वर्षों के  पूर्ण होने के उपलक्ष में पूरे प्रदेश में जश्न मनाने के लिए आज की कैबिनेट में चर्चा किए जाने पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे ने कहा कि लगता है सरकार इस बार 12 दिसंबर को अपने फेयरवेल (विदाई )पार्टी का आयोजन स्वयं कर रही है।  प्रदेश के तमाम वह लोग जो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से चाहे वह शिक्षाकर्मी हो चाहे पालक या विद्यार्थी जो शासकीय स्कूलों  व शिक्षा से जुड़े हुए है वह आज के कैबिनेट की बैठक से यह आशा संजोये हुए थे कि शायद सरकार आज की कैबिनेट में सरकार शिक्षाकर्मियों के कुछ मांगो को मानकरकुछ मांगो का आंशिक समर्थन कर अपने राजनीतिक चातुर्यता के द्वारा प्रदेश के नौनिहाल विद्यार्थियों के भविष्य की चिंता कर स्कूल आरंभ करायेगी ।किन्तु जिस प्रकार प्रदेश की मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह व उनके मंत्रिमंडल के साथी  इस गंभीर विषय पर किसी प्रकार की चर्चा के योग्य ना मानते हुए जश्न मनाने के अजेंडा  पर चर्चा कि यह इस बात का प्रमाण है कि लगातार 14 वर्ष सत्ता सुख पूरे मंत्रिमंडल को अहंकारी बना दिया है और अब इन्हें आम जनता की समस्याओं से कोई वास्ता नहीं रह गया।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ की प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे ने कहा कि प्रदेश की किसान अपने उपज का उचित मूल्य ना मिलने के कारण प्रतिदिन आत्महत्या करते रहे एवं सरकार ने उस दौरान पांच दिवसीय राज्यउत्सव  मनाकर जनता के पैसों की फ़िज़ूल खर्ची की । यदिसरकार चाहती तो पांच दिवसीय राज्यउत्सव के स्थान पर उन पैसों को गरीब किसानों के आर्थिक स्वावलंबन में उपयोग कर सकती थी जो राज्य उत्सव से बढ़कर अन्नदाता का उत्सव होता । आज भी सरकार 12 दिसंबर को 14 वर्ष पूरे होने के उत्सव के नाम पर होने वाले पैसों के फ़िज़ूल खर्ची को रोक कर उन पैसों से शिक्षाकर्मी की वेतन वृद्धि  या उन्हें इंक्रीमेंट देकर भी प्रदेश की स्कूलों में पढ़ाई आरंभ करवा सकती है जब स्कूलों में अध्ययन अध्यापन का माहौल होगा प्रदेश का नौनिहाल शाला गणवेश में स्कूल जाना पुनः आरंभ करेगा वह डॉ रमन सिंह या उनके मंत्री की 14 वर्ष के उत्सव से बढ़कर प्रदेश का शिक्षित होने का उत्सव होगा।

 

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे ने मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह व उनके मंत्रिमंडल साथियों को ताक़ीद दी है कि सरकार अपने आत्मप्रचार का उत्सव मनाना बंदकर आम जनता के उत्थान के लिए कार्य करें वरना इस 12 दिसंबर के 14 वर्ष के उत्सव सरकार का अंतिम फेयरवेल (विदाई) उत्सव बनकर रह जाएगा । 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *