November 29, 2021
Breaking News

संविधान के समक्ष हैं अनेक चुनौतियां:जोगी सविंधान दिवस पर अजित जोगी ने प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं

संविधान के समक्ष हैं अनेक चुनौतियां – जोगी,,प्रदेश की जनता के संवैधानिक अधिकारों हो रहा हैं हनन,,किसान कर रहे हैं आत्महत्या, गरीब-मजदूर कर रहे हैं पलायन

 (जोगी ने दी प्रदेशवासियों को संविधान दिवस की शुभकामनाएं)

 हरितछत्तीसगढ़ रायपुर 25.11.2017। देश की संविधान सभा के द्वारा 26 नवंबर सन् 1949 को भारत का संविधान पारित हुआ, इस दिन 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में घोषित किया गया । इस अवसर पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के संस्थापक व राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने प्रदेशवासियों को संविधान दिवस की अनेकानेक शुभकामनाएं देते हुए कहा भारत का संविधान दुनिया के किसी भी गणतांत्रिक देश में से सबसे बड़ा लिखित संविधान हैं, जो महान भारत का महान संविधान हैं, संविधान के प्रस्तावना की शुरूआत में ही उल्लेखित हम भारत के लोग…..जो नागरिकों की गरिमा, देश की एकता और अखण्डता पर बल देता हैं, परंतु मौजूदा समय में संविधान के समक्ष अनेक चुनौतियां हैं, हमारा संविधान समाज के अंतिम व्यक्ति के उत्थान की बात करता हैं,  आदर्श राज्य की स्थापना के लिए के लिए गांव गरीब, मजदूर और किसान के विकास की बात करता हैं परंतु छत्तीसगढ़ राज्य में जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां करती हैं, अन्नदाता किसान आत्महत्या कर रहे हैं, वहीं, गरीब, मजदूर, पलायन करने को मजबूर हैं बेरोजगारी  के कारण युवाओं के माथे में  चिंता की लकीरें स्पष्ट रूप से दिखाई देती हैं तो दूसरी ओर नारी अस्मिता खतरे पर हैं इसलिए संविधान निर्माता बाबा साहेब आंबेडकर ने कहा था किसी भी देश का संविधान कितना भी अच्छा हो उसे चलाने वाले अच्छे नहीं तो उसका कोई मतलब नहीं हैं।उक्त जानकारी प्रदेश प्रवक्ता भगवानु नायक ने दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *