July 24, 2021
Breaking News

अब ट्रक केबिन में एसी अनिवार्य परिवहन मंत्रालय की अधिसूचना जारी,एसी नही तो फिटनेश नही

अब ट्रक केबिन में एसी अनिवार्य परिवहन मंत्रालय की अधिसूचना जारी,एसी नही तो फिटनेश नही

नई दिल्ली : ट्रक ड्राइवर्स के लिए एक अच्छी खबर है। जनवरी 2018 से बनने वाले या बाजार में आने वाले ट्रकों के केबिन एयर कंडिशंड होंगे। परिवहन मंत्रालय ने एक अधिसूचना जारी की है। इस अधिसूचना के अनुसार, पहली जनवरी 2018 से बनने वाले ट्रक (वाहन) के केबिन में एयर कंडिशनिंग सिस्टम लगा होगा या ट्रक के केबिन AIS-056 के अनुरूप तापमान को सही बनाए रखने के सिस्टम से लैस होंगे। केंद्र सरकार की ओर से अनिवार्य मानकों के मुताबिक अब 31 दिसंबर, 2017 से सभी ट्रकों के केबिन एयर कंडीशंड होंगे। इस कदम का उद्देश्य सड़क दुर्घटनाओं की संख्या को कम करना है। हर साल 1.5 लाख लोगों की सड़क दुर्घटनाओं में जान चली जाती है और तीन लाख लोग घायल हो जाते हैं। सड़क परिवहन राज्य मंत्री मनसुख लाल मंडविआ ने कहा, “1 अप्रैल 2017 से प्रभावी श्रेणी के N2 और N3 के सभी केबिन एक एयर कंडीशनिंग सिस्टम के साथ होने चाहिए।”बता दें कि इसके लिए सरकार ने मोटर व्हीकल एक्ट में संशोधन किया है और इन नियमों को सेंट्रल मोटर व्हीकल्स (12वां संशोधन) कानून, 2017 नाम दिया गया है। इस कानून के मुताबिक जिन वाहनों के सिर्फ चेसिस बेचे जाते हैं, उनके केबिन में निर्माताओं को AIS-056 में परिभाषित तापमान को सही बनाए रखने के लिए उपयुक्त किट की आपूर्ति करनी होगी।आदेश के मुताबिक ट्रकों के बॉडी बिल्डर इसे मानकों के अनुरूप ट्रक में इंस्टॉल करेंगे। ऐसा माना जाता है कि ट्रकों के केबिन का तापमान बाहर के तापमान से काफी अधिक होता है। लंबी दूरी के सफर करने वाले ट्रक ड्राइवर्स को इससे न केवल परेशानी होती है बल्कि वह जल्दी थक भी जाते हैं जिससे दुर्घटनाओं की संभावना बढ़ जाती है। सरकार इस बदलाव के जरिए सड़क दुर्घटनाओं को कम करने का प्रयास कर रही है।

AC केबिन होगा तो मिलेगा फिटनेस प्रमाण पत्र

परिवहन नियमों के अनुसार किसी भी कमर्शियल वाहन को साल में एक बार वाहन फिटनेस का प्रमाण पत्र लेना अनिवार्य होता है। यदि कोई ट्रक मालिक केबिन को एसी नहीं करवाएगा तो उसके वाहन को फिटनेस प्रमाण पत्र नहीं दिया जाएगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *