July 25, 2021
Breaking News

UP निकाय चुनाव : गिनती जारी, शुरुआती रुझान में BJP आगे,फिरोजाबाद में सपा को बढ़त

उत्तर प्रदेश में 16 नगर निगम, 198 नगर पालिका परिषद और 438 नगर पंचायतों में तीन चरणों में चुनावों के रुझान आने लगे हैं। 75 जिलों के 334 केंद्रों पर इस समय काउंटिंग चल रही है। यह चुनाव सीएम योगी आदित्यनाथ की परीक्षा के तौर पर भी देखा जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के नगरीय चुनाव की मतगणना कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आज सुबह 8 बजे शुरु हो गई। राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त एस के अग्रवाल ने बताया कि सभी नतीजे देर रात तक आ जाने की सम्भावना है। 3 चरणों में 16 नगर निगमों, 198 नगरपालिका परिषद और 438 नगर पंचायतों का चुनाव 22, 26 और 29 नवम्बर को मतदान हुआ था। अयोध्या,मथुरा-वृन्दावन,सहारनपुर और फिरोजाबाद में नगर निगम के रूप में पहली बार चुनाव हुआ।

गत 19 मार्च को मुख्यमंत्री पद की कुर्सी संभालने के बाद योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल का यह पहला अहम चुनाव था। इस चुनाव में प्रचार की अगुवाई मुख्यमंत्री स्वयं कर रहे थे। चुनाव प्रचार में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय के अलावा दोनों उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा तथा प्रदेश के मंत्री रात-दिन एक किये थे।

यूपी नगर निकाय चुनाव के‌ लिए प्रदेश के 75 जिलों में मतगणना शुरू हो गई है। इन जिलों के 334 केंद्रों पर काउंटिंग की जा रही है। इस चुनाव में 79, 113 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होना है।

– अभी तक आ रहे रुझान में भाजपा 10 नगर निगमों में भाजपा को भारी बढ़त मिलती नजर आ रही है। वहीं, फिरोजाबाद में सपा प्रत्याशी सावित्री गुप्ता आगे हैं।

– लखनऊ में भाजपा की संयुक्ता भाटिया आगे।

– गाजियाबाद, मेरठ और सहारनपुर में भाजपा आगे।

– लखनऊ नगर निगम व काकोरी की मतगणना शहर के रमाबाई अम्बेडकर रैली स्‍थल पर हो रही है।

राजधानी लखनऊ सहित 16 नगर निगम, 198 नगर पालिका परिषद और 438 नगर पंचायतों में तीन चरणों में हुए चुनाव की मतगणना हो रही है। नगर निगम क्षेत्रों की मतगणना ईवीएम से हो रही है। एक ईवीएम से मतगणना में दस मिनट तक का समय लगता है। वहीं नगर पालिका परिषदों व नगर पंचायतों में मतपत्र से चुनाव होने के कारण मतगणना में समय अधिक लगेगा। निकाय चुनाव 2012 की तुलना में सात घंटे पहले परिणाम जारी कराने के लिए मतगणना टेबलों की संख्या बढ़ाई गई है।

जीत का प्रमाण पत्र ऑनलाइन होगा जारी
परिणाम घोषित होने के बाद निर्वाचन अधिकारी राज्य निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर इसे फीड करेंगे। इसके साथ ही विजेता प्रत्याशी के नाम ऑनलाइन प्रमाण पत्र जारी हो जाएगा। निर्वाचन अधिकारी प्रमाण पत्र पर अपने दस्तखत कर विजेता प्रत्याशी को सौंप देगा। निर्वाचन अधिकारी की हस्ताक्षरित प्रमाण पत्र की कॉपी को आयोग के सर्वर पर भी अपलोड किया जाएगा।

एसएमएस से मिलेगी परिणाम की सूचना
राज्य निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर मोबाइल नंबर अपडेट कराने वाले 25 लाख मतदाताओं के साथ ही सभी प्रत्याशियों को चुनाव परिणाम की सूचना मोबाइल पर एसएमएस के जरिए दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *