September 24, 2021
Breaking News

२ दिसम्बर को शिक्षाकर्मियो के जंगी प्रदर्शन पर संशय,प्रशासन अनुमति नही दे रहा

२ दिसम्बर को शिक्षाकर्मियो के जंगी प्रदर्शन पर संशय,प्रशासन अनुमति नही दे रहा

हरित छत्तीसगढ़ रायपुर : पंचायत विभाग के एसीएस आरपी मंडल और शिक्षाकर्मियों के बीच हुवे बातचीत का कोई सार्थक नतीजा नहीं निकले जाने पर शिक्षाकर्मियो द्वारा 2 दिसंबर को छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में हड़ताली शिक्षाकर्मियों का  भव्य  जंगी प्रदर्शन करने के ऐलान कर दिया गया है जिसके बाद प्रशासन ने इस रैली प्रदर्शन के लिए सहमति देने से इनकार कर दिया है जिसके कारण शिक्षाकर्मियो का जंगी प्रदर्शन पर पानी फिरता नजर आ रहा है।विदित हो की  शिक्षाकर्मियों ने 2 दिसंबर को रायपुर में जंगी रैली और प्रदर्शन करने की घोषणा की थी, इसे लेकर शुक्रवार देर शाम तक पुलिस और एसडीएम के साथ शिक्षाकर्मियों की बैठक चली, लेकिन प्रशासन ने प्रदर्शन के लिए सहमति नहीं दी। सूत्रों के मुताबिक प्रशासन इस बात के पक्ष में बिलकुल नहीं है कि शिक्षाकर्मियों को शनिवार के प्रदर्शन और महासंविलियन रैली के लिए अनुमति दी जाए। ऐसी स्थिति में जंगी प्रदर्शन को लेकर शिक्षाकर्मियो में  फिर से असमंजस की स्थिति बन गयी है.आज सुबह से हो रही पंचायत विभाग के एसीएस आरपी मंडल और शिक्षाकर्मियों के बीच बातचीत खत्म हो गयी है. हालांकि बातचीत का कोई सार्थक नतीजा अब तक नहीं निकल पाया है। राज्य सरकार अपने उन्हीं प्रस्तावों पर अड़ी हुई है. जिस पर वो 19 नवंबर को थी.राज्य सरकार की तरफ से एक बार फिर चीफ सिकरेट्री की अध्यक्षता में कमेटी बनाने का प्रस्ताव दिया गया। लेकिन किस तारीख तक मांगे पूरी कर दी जायेगी.इस बारे में राज्य सरकार की तरफ से कोई बातें नहीं बतायी गयी लिहाजा अब शिक्षाकर्मी असमंजस में फंसे हैं. कि आखिर हड़ताल को लेकर क्या किया जाये। राज्य सरकार और शिक्षाकर्मियों के बीच कई मांगों पर सहमति नहीं बन पाई है। सरकार शिक्षाकर्मियों की मांगों पर विचार करने के लिए एक कमेटी बनाने का सुझाव दिया था, जिसे शिक्षाकर्मी संगठनों ने मानने से इंकार कर दिया। इसके बाद यह बैठक स्थगित कर दी गई।वही अब प्रशासन शिक्षाकर्मियो के जंगी रैली प्रदर्शन के पक्ष में नहीं रहने से इस प्रदर्शन पर संशय की स्थिति आ गयी है बहरहाल अब देखना होगा की शिक्षाकर्मी आगे क्या रुख अपनाते है /

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *