November 29, 2021
Breaking News

जाने क्यों पत्थलगांव थाने शिक्षाकर्मियो ने किया जमकर हंगामा

राजधानी में प्रदर्शन से पहले अपने क्षेत्र के थाने मे शिक्षाकर्मी हुए गिरफ्तार ,,रैली को लेकर प्रशासन का कड़ा रुख

हरित छत्तीसगढ़  विवेक तिवारी/संजय तिवारी पत्थलगांव/

पत्थलगांव क्षेत्र से शिक्षाकर्मियो की महा रैली में शामिल होने जा रहे क्षेत्र के शिक्षाकर्मियो को पत्थलगांव पुलिस ने पकड कर थाने में बैठा दिया हडताल में शामिल होने से वंचित शिक्षाकर्मियो ने थाने के सामने ही धरना पर बैठते हुवे हंगामा करना शुरू कर दिया जिससे पुलिस असमंजस की स्थिति में आ गयी है/2 दिसंबर को राजधानी रायपुर में में होने वाली शिक्षाकर्मियों की महारैली को देखते हुए प्रशासन ने कड़ा रुख अपना लिया है। प्रदेश भर से रायपुर जा रहे शिक्षाकर्मियों को जगह-जगह रोक लिया गया है वही पत्थलगांव थाने में भी भारी संख्या में शिक्षाकर्मियो को रोक दिया  गया है ये सभी शिक्षाकर्मी राजधानी के महारैली में शामिल होने जा रहे थे, वही पत्थलगांव थाने को खबर लगते ही शिक्षाकर्मियों को पत्थलगांव इंदिरा चौक में रोक लिया गया और थाने में ला कर बैठा दिया गया। विदित हो की जिला प्रशासन ने 2 दिसम्बर को ईद-मिलाद-उन-नबी के पावन पर्व के अवसर पर राजधानी रायपुर में शांति और सौहार्द्रपूर्ण वातावरण बनाए रखने की दृष्टि से किसी भी संगठन और किसी भी संस्था को रैली और धरना-प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी है, ताकि लोग शांतिपूर्ण ढंग से त्यौहार मना सकें। इनमें पंचायत संवर्ग के शिक्षक (शिक्षाकर्मी) भी शामिल हैं, जिन्हें राजधानी में शांति व्यवस्था बनाए रखने की दृष्टि से कलेक्टर रायपुर द्वारा रैली और प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी गई है। जिला प्रशासन ने सभी संगठनों और नागरिकों से शांति और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सहयोग की अपील की है। वही प्रशासन की आदेश अनसुना करते हुवे शिक्षाकर्मियों ने 2 दिसंबर को रायपुर राजधानी में शिक्षाकर्मियों की महारैली का आयोजन किया है, राजधानी में संभावित क्षेत्रों में धारा 144 लागू कर दिया है। छत्तीसगढ़ के सभी क्षेत्रों के शिक्षाकर्मी महारैली में सम्मिलित होने जा रहे थे इसे देखते हुए प्रशासन ने कड़ा रुख अपनाते हुए जगह जगह दर्जनों शिक्षाकर्मियों को गिरफ्तार कर रायपुर जाने से रोक दिया गया है। इसी क्रम में पत्थलगांव थाने में भी शिक्षाकर्मियो को वहोनो से उतारकर थाने में बैठाया गया है जिससे नाराज शिक्षाकर्मी थाने के सामने ही धरने पर बैठ गये है/धरने पर बैठे शिक्षाकर्मियो का कहना है की शिक्षाकर्मियों के आंदोलन को असफल बनाने हेतु राज्य सरकार ने वह हर हथकंडा अपना रही है जिससे शिक्षाकर्मियों की रैली विफल हो जाए।   प्रशासन के कड़े रूख के बावजूद हम सभी शिक्षाकर्मी अपनी मांगों को लेकर अडीग है। यहा थाने में बैठे शिक्षाकर्मियो का कहना है कि प्रशासन जितना भी कड़ा रुख अपना ले पर पर्याप्त मात्र में जशपुर जिले समेत पत्थलगांव क्षेत्र से हजारो शिक्षाकर्मी अपनी मांगों को लेकर रायपुर पहुंच चुके हैं और निश्चित स्थान पर महारैली करने की पूरी तैयारी है/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *