July 26, 2021
Breaking News

जब पूर्व मंत्री रामपुकार सिंह थाने पहुंच पुलिस पर बरसने लगे,जाने क्यों पहुंचे कांग्रेसी पत्थलगांव थाने

जब पूर्व मंत्री रामपुकार सिंह थाने पहुंच पुलिस पर बरसने लगे,जाने क्यों पहुंचे कांग्रेसी पत्थलगांव थाने

haritchhattisgarh.com/

हरितछत्तीसगढ़ संजय तिवारी पत्थलगांव।

आज दोपहर पत्थलगांव थाने की पुलिस के समक्ष उस समय असहजता की स्थिति निर्मित हो गयी जब पूर्व मंत्री रामपुकार सिंह ,कांग्रेस जिलाध्यक्ष पवन अग्रवाल,वरिष्ठ नेता सत्यनारायण शर्मा समेत कई कांग्रेसी पुलिस के समक्ष पहुंचकर शिक्षाकर्मियों को कौन सी वजह से पकड़कर थाने में रखे जाने संबंधित सवाल जवाब करते हुए इन्हें तत्काल छोड़ने की मांग करने लगे इन कांग्रेसी नेताओं का कहना था कि आखिरकार शिक्षाकर्मी अपने अधिकार की लड़ाई ही तो लड़ रहे हैं ऐसे में इनके आंदोलन को रोकने के लिए इस तरह का दबाव की नीति गलत है। हम इस बर्बरतापूर्वक हो रही करवाई का विरोध करते है इस दौरान कांग्रेसियो ने पुलिस से जमकर सवाल जवाब करते हुवे पूरी कार्रवाई पर सवालिया निशान उठाते नजर आए। ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ के शिक्षाकर्मियों के द्वारा रायपुर राजधानी में पूरे छत्तीसगढ़ के शिक्षाकर्मी पहुंचकर महारैली को अंजाम देने वाले थे जिस को देखते हुए प्रशासन ने सभी शिक्षाकर्मियों को जगह-जगह रोकने का फरमान सभी थानों को सुना दिया। जिस फरमान के तहत पुलिसकर्मी सभी जगह शिक्षाकर्मियों को राजधानी रायपुर जाने से रोकने लगे इसी कड़ी में पत्थलगांव थाना भी हलचल में आया और शिक्षाकर्मियों को रोकते हुए रात्रि एक दर्जन शिक्षाकर्मियों को रोक कर थाने में बैठा दिया गया। जिनका समर्थन करते हुए आज सूबह पत्थलगांव कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व पूर्व मंत्री रामपुकार सिंह पूर्व ब्लाक अध्यक्ष सत्यनारायण शर्मा जिला अध्यक्ष पवन अग्रवाल अपने दल बल के साथ थाने पहुंचे और शिक्षाकर्मियों को थाने में गलत ढंग से बैठाने की बात पर पुलिस पर बरस पड़े। इसी कड़ी में जिला अध्यक्ष पवन अग्रवाल ने कहा कि यह शिक्षाकर्मियों के आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है सरकार के इशारे पर प्रशासन शिक्षाकर्मियों के अधिकारों का हनन कर रही है अपने बातों को रखना शिक्षाकर्मियों के अधिकार में है जिसे यह सामूहिक ढंग से राजधानी रायपुर में रखना चाहते थे सरकार की ऐसे कृत्य का मैं निंदा करता हूं।वही समर्थन में पहुंचे पूर्व ब्लाक अध्यक्ष सत्यनारायण शर्मा ने कहा कि क्या अब व्यक्ति छत्तीसगढ़ में अपने अधिकारों का मांग भी नहीं कर सकता शिक्षाकर्मियों की मांगों को सरकार दरकिनार करते हुए उन पर इस प्रकार की बर्बरता कर रही है यह सरासर गलत है।
वही थाने पहुंचे पूर्व मंत्री रामपुकार सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार भयभीत होकर शिक्षाकर्मियों की आवाज को कुचलने का कार्य कर रही है छत्तीसगढ़ सरकार तानाशाही ढंग से शासन कर रही है जो कि सरासर गलत है शिक्षाकर्मियों की मांग सरकार क्यों नहीं पूरी करती और जब तक शिक्षाकर्मियों को नहीं छोड़ा जाएगा कांग्रेसी भी थाने से नहीं जाएंगे यह कहते हुए कांग्रेसियों ने थाने में ही अपना स्थान बना लिया। वही शिक्षाकर्मियों ने कहा कि सरकार जो इस प्रकार की कृत्य कर रही है इससे हमारी ताकत और भी बढ़ रही है हमें पता चल गया है की सरकार हम से भयभीत हो गई है जिसके कारण हमारे कार्यक्रमों को नष्ट करने की कोशिश की जा रही है।वही पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हमारे द्वारा शिक्षाकर्मियों को गिरफ्तार नहीं किया गया है विभागीय आदेश था कि शिक्षाकर्मियों को राजधानी जाने से रोकना है जिसका हम ने पालन किया है उच्चाधिकारियों का आदेश आते ही हम इनको अपने अपने घर जाने की अनुमति दे देंगे।haritchhattisgarh.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *