November 29, 2021
Breaking News

टमाटर किसानो ने लगाया नगरपंचायत पर आरोप कर्मचारी करते हैं अवैध वसूली

टमाटर किसानो ने लगाया नगरपंचायत पर आरोप कर्मचारी करते हैं अवैध वसूली


हरितछत्तीसगढ़ संजय तिवारी पत्थलगांव।। एक तरफ जहां अपनी खून पसीने की मेहनत से कमाई हुई टमाटर किसान मंडी में लाकर बेचते हैं वही किसान नगरपंचायत कर्मचारियों की कारगुजारी से परेसान है।उनका आरोप है कि नगर पंचायत के वशुली कर्मचारी एक भार टमाटर के पीछे नियत शुल्क से अधिक वसूली करते हैं जिन से सभी टमाटर किशान परेशान है किशानो का कहना है कि आस पास के सभी टमाटर मंडी जैसे कि लुड़ेग, चिकनी पानी, सरईटोला, धनवाटोली, खरहाघोड़ा, पाकरगांव सभी जगह समय-समय पर हम किसानों के द्वारा टमाटर बेचने जाया जाता है जहां पंचायतों के द्वारा एक निश्चित मंडी शुल्क तय किया गया है जो कि एक भार टमाटर के लिए ₹5 का शुल्क तय किया गया है पर पत्थलगांव में नगर पंचायत वसुली कर्मचारियों के द्वारा एक भार का ₹10 जबरिया लिया जाता है जो कि गलत है। वही जामजूनगानी के किशान विकास खलखो ने बताया कि जिस मंडी में हम टमाटर बेचने के लिए लाते हैं उस मंडी में किसी भी स्थान पर टमाटर के भार के पीछे नगर पंचायत ने कितना शुल्क तय किया है कहीं भी नहीं लिखा गया है नियम तो यह है कि नियत शुल्क मंडी प्रांगण में लिखा जाना चाहिए जिससे किसानों में असमंजस की स्थिति नहीं रहेगी वही पाराघाटी से टमाटर बेचने आए किशान देवबोधन ने बताया कि हम रोज इस मंडी के अंदर लूटे जाते हैं हमने देखा कि जो पर्ची हमें थमाया जाता है उस पर्ची में ना तो नगर पंचायत अधिकारी का हस्ताक्षर है ना ही किसी प्रकार की शासकीय सील मोहर है जिससे साफ पता चलता है कि कर्मचारी नियत राशि से अधिक वसूली कर रहे हैं किसानों के साथ अवैध वसूली की बात जब जनता कांग्रेस प्रदेश सचिव हैप्पी भाटिया को पता चली तो उन्होंने तत्काल मंडी पहुंचकर किसानों से बातचीत की और कर्मचारियों को चेताते हुए आगे से ऐसा कृत्य ना करने की हिदायत दी वही हरित छत्तीसगढ़ को बताते हुए हैप्पी भाटिया ने कहां की नगर पंचायत में छोटे कर्मचारी से लेकर बड़े तक सभी भ्रष्टाचार के आगोश में समा चुके हैं सभी कर्मचारी इस फिराक में रहते हैं की कहां से दो पैसा कमा लिया जाए उन्होंने गरीब किसानों तक का शोषण करने का कार्य किया है श्री भाटिया ने बताया कि इन किसानों के आवाज को हम उच्चाधिकारी तक पहुंचाने का कार्य करेंगे वही नगर पंचायत प्रभारी सीएमओ राम प्रसाद यादव से जानकारी लेने पर बताया कि यदि इस प्रकार की कार्य हो रहा है तो गलत है मेरे द्वारा मंडी जा कर इसकी जानकारी ली जाएगी और किसानों को बताया जाएगा कि नगर पंचायत ने एक भार टमाटर के पीछे ₹5 की राशि तय की है इसके अतिरिक्त न दिया जाए। बताया जाता है कि नगर पंचायत के वसुलिकर्ताओ कर्मचारियों द्वारा सब्जी मार्केट के ग्रामीण विक्रेताओ से भी मनचाहा वसूली किया जाता है साथ कि रसीद न देकर भी भारी गोलमाल किये जाने की बात सुनने में आ रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *